चरण निर्देश

शेयर बाजार क्या है

शेयर बाजार क्या है
किसी के कहने पर किसी भी शेयर में निवेश ना करें। निवेश से पहले विशेषज्ञ से सलाह जरूर ले। आप चाहे कितने बड़े खिलाड़ी हो लेकिन कर्ज लेकर कभी भी स्टॉक मार्केट में निवेश ना करें इससे आप ज्यादा कठिनाई में पड़ सकते हैं।

Stock Market: निवेशकों ने 1 दिन में कमाए 3 लाख करोड़, ब्याज दरों में बढ़ोतरी के बाद भी सेंसेक्स क्यों 1000 अंक चढ़ा?

Stock Market : शेयर बाजार से मुनाफा पाना है तो अमल में लाएं कुछ जरूरी बातें

By: एबीपी न्यूज़ | Updated at : 03 Jul 2021 10:31 PM (IST)

stock market : शेयर मार्केट में निवेश सिर्फ लाभ बनाना भर नहीं है. इसके लिए आपके पास सही स्टॉक चुनने की समझ भी जरूरी है. शेयर बाजारों में निवेश के साथ जोखिम भी काफी है, लेकिन इसके मुकाबले होने वाले बड़े लाभ नुकसान का असर कम कर देते हैं. दअसल, शेयर बाजार राष्ट्रीय शेयर बाजार क्या है वित्तीय एक्सचेंजों पर लिस्टेँड कंपनी के शेयरों की खरीद-बिक्री है. जब कोई कंपनी सार्वजनिक होती है तो वह अपने शेयर जनता को बिक्री के लिए जारी करती है, इन्हें खरीदने या बेचने वाले स्टॉक कारोबारी कहे जाते हैं. वे बाजार के जानकार होने के साथ यह भी समझते है कि अपने पैसे का सही निवेश कब और कहां करना चाहिए. स्टॉक मार्केट ट्रेडिंग से पहले पुख्ता प्लानिंग जरूरी है.

निवेश से पहले यह करना जरूरी
सभी पेंडिंग लोन खत्म कर लें: शेयर बाजार में निवेश शुरू करने से पहले एहतियातन आपको अपने सभी हाई इंट्रेस्ट वाले लोन, जैसे पर्सनल, क्रेडिट कार्ड क्लीयरेंस आदि चुकता कर लेने चाहिए. जिससे क्रेडिट लायबिलिटी न हो.

P/E Ratio का मतलब क्या है?

P/E Ratio का अर्थ Price Earning Ratio है।

साधारण भाषा में इसका मतलब यह होता है कि हमें कितने रुपए लगाने पर कितने रुपए मिलेगा।

उदाहरण द्वारा इसे समझते हैं। रिलायंस कंपनी के 1 शेयर का दाम अभी ₹ 2000 हैं। इस कंपनी ने पिछले 1 साल में ₹ 200 लाभ दिया है। यदि मुझे इसका P/E Ratio शेयर बाजार क्या है निकालना है तो 2000 ÷ 200 = 10 निकलेगा।

इस P/E Ratio का मतलब यह हुआ कि आपको ₹ 1 कमाने के लिए रिलायंस कंपनी में ₹10 लगाना पड़ेगा। या दूसरे भाषा में ₹ 2000 केेेेेेे निवेश पर हमें ₹ 200 प्राप्त होगा।

इस प्रकार P/E Ratio उसे कहते हैं जिसे प्रति शेयर बाजार मूल्य में उसके द्वारा दी गई आय के द्वारा भाग देने पर जो प्राप्त होता है वही P/E Ratio है।

शेयर खरीदने हेतु P/E Ratio क्या होने चाहिए

अब आपके मन में यह सवाल उठता होगा कि शेयर खरीदने वक्त हमें कितना P/E Ratio का शेयर खरीदना चाहिए और कितना P/E Ratio शेयर नहीं खरीदना चाहिए।

आमतौर पर वित्तीय सलाहकार कहते हैं कि जिसका P/E Ratio 30 से ज्यादा है उसे हमें नहीं खरीदना चाहिए। क्योंकि यदि मुझे ₹30 लगाकर सालाना ₹1 प्राप्त हो यहां तक तो ठीक माना जा सकता है। पर उससे ज्यादा लगाकर यदि मुझे ₹1 प्राप्त हो तो यह कभी भी ठीक नहीं माना जा सकता।

वैसे जैसे जैसे कंपनी मुनाफा कमाता रहता है उसका P/E Ratio बढ़ता रहता है। इसलिए आप कंपनी के पिछले कुछ सालों का मुनाफा देख सकते हैं। यह जरूरी नहीं कि P/E Ratio ज्यादा होने से उस शेयर में निवेश ना करें।

क्या केवल P/E Ratio द्वारा ही अच्छे शेयर का चुनाव सही है?

यदि आप सोच रहे हैं कि मुझे P/E Ratio निकालना आ गया और इसे देखकर मैं अच्छे से शेेेयर खरीद कर एक सफल निवेशक बन जाऊंगा तो यह आप गलत सोच रहे हैं। कई बार हम भ्रम में भी आ जाते हैंं। गलत P/E Ratio दौरा भी हम गलत शेयर खरीद कर नुकसान उठा लेते हैं।

कई ऐसे भी कंपनी होती हैं जिसकी P/E Ratio में काफी उतार-चढ़ाव होता रहता है। यानी किसी वर्ष यह बहुत ज्यादा बढ़ जाता है और किसी बात बहुत कम हो जाता हैै।

उदाहरण रियल स्टेट कंपनी का लेते हैं। किसी वर्ष 50 घर भी नहीं बिकता तो किसी वर्ष 500 घर बिक जाता है। जिस वर्ष इस कंपनी का 500 घर बिका है उस वर्ष का P/E Ratio 20 मान लेते हैं। हम यह सोच कर शेयर खरीद लेते हैं कि P/E Ratio उसका कम है।

P/E Ratio और क्या बताता है?

P/E Ratio द्वारा किसी कंपनी के शेयर सस्ते या महंगे का अनुमान लगा सकते हैंं। इसके अलावा आप यह भी अनुमान लगा सकते हैं कि वर्तमान में शेयर बाजार महंगा है या सस्ता हैै।

मेरा कहने का अर्थ यह है कि कई बार नये निवेशक सोचते हैं कि जब बाजार सस्ता होगा तब निवेश की शुरुआत करूंगा। यह पता कैसे चलेगा कि मार्केट अभी सस्ता है या महंगा है। शेयर बाजार क्या है उसके लिए आप मार्केट का P/E Ratio देख सकते हैं।

भारतीय बाजार में मुख्य रूप से दो जगह शेयर की खरीद बिक्री की जाती है। एक सेंसेक्स और दूसरा है निफ्टी। सेंसेक्स 30 कंपनी का प्रतिनिधित्व करती है और निफ्टी भारत के 50 कंपनी का प्रतिनिधित्व करती है।

सेंसेक्स और निफ्टी यह बताती है कि अभी भारतीय बाजार का क्या हाल है। यदि आप नये निवेशक हैं या शेयर मार्केट में निवेश करने की सोच रहे हैं तो सेंसेक्स और निफ्टी का P/E Ratio जाकर जरूर देख लें। आपको पता लग जाएगा कि अभी भारतीय शेयर बाजार सस्ता है या महंगा है।

जानें क्या है शेयर बाजार, कैसे करता है काम

जानें क्या है शेयर बाजार, कैसे करता है काम

मोदी सरकार के आखिरी बजट से शेयर बाजार में जहां निराशा दिखी है वहीं अब शेयर बाजार में भी शेयर बाजार क्या है भारी गिरावट देखी जा रही है। मंगलवार को सेंसेक्स 1200 और निफ्टी 350 से ज्यादा अंक नीचे खुला है।

लेकिन यहां हम बात कर रहे हैं शेयर बाजार क्या है और ये कैसे काम करता है। शेयर बाजार एक ऐसा प्लैटफॉर्म है, जो कंपनियों और निवेशकों को एक-दूसरे से जोड़ता है।

शेयर बाजार क्या है?

शेयर बाजार को सीधे शब्दों में कहा जा सकता है कि शेयर का अर्थ है हिस्सा और बाजार का मतलब वो जहां सभी दुकानें होती है। शेयर बाजार की भाषा में बात करें तो शेयर का अर्थ है कंपनियों में हिस्सा।

जैसे एक कंपनी ने कुल 10 लाख शेयर जारी किए हैं। निवेशक जितने शेयर खरीद लेते हैं आपको उस कंपनी में उतने का मालिकाना हक हो जाता है। जिसे आप किसी अन्य खरीददार को जब भी चाहें बेच सकते हैं। आप 100 से लेकर अधिकतम शेयर खरीद सकते हैं।

कैसे करता है काम

बाजार से शेयर खरीदने-बेचने के लिए कई शेयर ब्रोकर्स होते हैं जो उनके तय पारिश्रमिक (लगभग 2 फीसदी) लेकर अपने ग्राहकों को यह सेवा देते हैं। इन कंपनियों के शेयरों का मूल्य मुंबई शेयर बाजार (बीएसई) में दर्ज होता है।

जानकारी के लिए बता दें कि बीएसई यानी मुंबई स्टॉक एक्सचेंज और एनएसई यानी नेशनल स्टॉक एक्सचेंज हैं। जिनपर भारत में ज्यादा काम होता है। बीएसई और एनएसई दुनिया के बड़े स्टॉक एक्सचेंज हैं।

अधिकतर कंपनियां जिनके शेयर मार्केट में ट्रेड होते हैं इन दोनों स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड है मगर यह भी हो सकता है की कोई कंपनी इन दोनों में से किसी एक ही एक्सचेंज पर लिस्टेड हों।

अगर आप भी शेयर बाजार में काम करना चाहते हैं या फिर शेयर खरीदना चाहते हैं तो आपको इन ब्रोकर कम्पनियों के पास जाकर अपने डीमैट अकाउंट की जानकारी देकर अपना खाता ब्रोकर के पास खुलवा सकता है।

What is Share Market in Hindi - शेयर बाजार क्या है?

What is Share Market in Hindi - शेयर बाजार क्या है?

What is Share Market in Hindi - दुनिया में पैसे कमाने का जरिया बहुत है, कुछ लोग job करके पैसे कमाते हैं तो कुछ लोग व्यापार यानि business करके पैसे कमाते हैं और कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अपने पैसे दाव पर लगा कर ढेर सारे पैसे कमाते हैं. पर ये लोग अपने पैसे कौन सी जगह पर दाव पर लगाते हैं, ऐसी कौन सी जगह है की जहाँ अपने पैसे दाव पर लगाने के बाद भी लोगों को मुनाफा होता है? वो जगह है share market यानि शेयर बाज़ार. Share Bazar के बारे में सभी ने सुना होगा मगर वहां क्या होता है इसका ज्ञान सभी को नहीं है.

1.Share Market और Stock Market एक ऐसा market है जहाँ बहुत से companies के shares ख़रीदे और बेचे जाते हैं. ये एक ऐसी जगह है जहाँ कुछ लोग या तो बहुत पैसे कमा लेते हैं या तो अपने सारे पैसे गवा देते हैं. किसी कंपनी का share खरीदने का मतलब है उस कंपनी में हिस्सेदार बन जाना. आप जितने पैसे लगायेंगे उसी के हिसाब से कुछ प्रतिशत के मालिक आप उस कंपनी के हो जाते हैं. जिसका मतलब ये है की अगर उस कंपनी को भविष्य में मुनाफा होगा तो आपके लगाये हुए पैसे से दुगना पैसा आपको मिलेगा और अगर घाटा हुआ तो आपको एक भी पैसे नहीं मिलेंगे यानि की आपको पूरी तरह से नुकसान होगा. जिस तरह Share market in शेयर बाजार क्या है Hindi में पैसे बनाना आसान है ठीक उसी तरह यहाँ पैसे गवाना भी उतना ही आसान है क्यूंकि stock market में उतार चढ़ाव होते रहते हैं.

लंबे समय तक नहीं चलेगा रेट हाइक!

यूएस फेडरल रिजर्व ने बुधवार को ब्याज दरों में 75 बेसिस प्वॉइंट की बढ़ोतरी की है. इसके अलावा अमेरिकी सेंट्रल बैंक ने भविष्य में इंटरेस्ट रेट गाइडेंस को 3 फीसदी से 3.5 फीसदी की सीमा में रखा है. पॉजिटिव यह रहा कि फेड ने संकेत दिया है कि इस तरह की बढ़ोतरी लंबे समय तक नहीं चल सकती है. आगे इसकी गति धीमी होगी. यूएस फेड द्वारा इस तरह के संकेत दिए जाने से इक्विटी पर पॉजिटिव असर देखने को मिला है. कमोडिटी की कीमतों में गिरावट भी बेहतर संकेत हैं.

रेलिगेयर ब्रोकिंग में वीपी-रिसर्च अजीत मिश्रा के अनुसार बाजार में जून के निचले स्तरों से रिकवरी देखने को मिली है. ऑटो और एफएमसीजी जैसे सेक्टर में अच्छी तेजी देखने को मिली है. आगे बैंकिंग और फाइनेंशियल सेक्टर बाजार को मोमेंटम दे सकते हैं. हालांकि आईटी और एनर्जी जैसे सेक्टर पर दबाव है. ऐसे में बाजार में गिरावट आने पर क्वालिटी शेयरों को जोड़ना चाहिए.

रेटिंग: 4.57
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 605
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *