चरण निर्देश

क्रिप्टो एक्सचेंज कैसे शुरू करें

क्रिप्टो एक्सचेंज कैसे शुरू करें
बता दें कि लगभग सभी बड़े एक्सचेंज एक जैसा ही प्रोसेस फॉलो करते हैं। जिसके मुताबिक आपको एक अकाउंट बनाना होगा, फिर भारत स्थित एक्सचेंज आपको KYC वेरिफिकेशन करने को बोलेंगे। यह वेरेफिकेशन किसी फ्रॉड वगैरह को रोकने के लिए किया जाता है और आपको इस दौरान अपना आईडी प्रूफ देना होगा। यह पूरा प्रोसेस बहुत ही कम समय में पूरा हो जाता है। जिसके बाद आप ट्रेडिंग शुरू कर सकते हैं। जिसके लिए आप अपना बैंक अकाउंट अपने क्रिप्टो अकाउंट से लिंक कर सकते हैं। साथ ही ट्रांजैक्शन के लिए आप सीधे डेबिट/क्रेडिट कार्ड या नेटबैंकिंग का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। वहीं जब लॉगइन और अकाउंट सेटअप का पूरा प्रोसेस पूरा हो जाएगा, तो आपका एक्सचेंज आपको पहला ऑर्डर प्लेस करने के लिए नोटिफाई भी कर देगा। जिसके बाद ऑर्डर प्लेस करने के लिए आपको किसी क्रिप्टोकरेंसी का सिंबल यानी कि बिटकॉइन के लिए BTC, एथर के लिए ETH और डॉजकॉइन के लिए DOGE, डालना होगा और वो अमाउंट डालना होगा, जितने में आप वो कॉइन खरीदना चाहते हैं।

cryptocurrency

Bybit:Bitcoinक्रिप्टो एक्सचेंज

Bybit is the world’s fastest-growing cryptocurrency exchange and trading platform, trusted by millions of users globally. We welcome you to trade crypto smarter and safer with the Bybit exchange app.

Get started with the Bybit app to buy cryptocurrencies such as Bitcoin (BTC) and Ether (ETH) hassle-free. Enjoy easy access to crypto spot trading pairs — from fiat-crypto or crypto-to-crypto. Explore a wide selection of crypto derivatives perpetual and futures contracts, including ADAUSDT, BTCUSDT, ETHUSDT, XRPUSDT and more.

Hot: Earn high APY with Bybit DeFi Mining.

Need a reason to download Bybit’s mobile app? Here are a few:

Buy and sell crypto fast & fuss-free
You can buy and sell BTC, ETH and other cryptocurrencies almost instantaneously. Enjoy easy checkout with your credit or debit card and bank transfers from fiat to crypto in three simple steps.

ये है क्रिप्टो करेंसी में निवेश करने का सही तरीका | क्रिप्टो करेंसी में कैसे निवेश करें

cryptocurrency me invest kaise kare

अगर आप जान्ना चाहते हैं क्रिप्टो करेंसी में कैसे निवेश करें, और आपको इसमें निवेश करने का तरीका नही पता तो अब आपको चिन्ता करने की ज़रुरत नहीं. क्योंकि इस लेख में आपको क्रिप्टो करेंसी में निवेश करने का सरल तरीका बताऊंगा. साथ ही क्रिप्टो करेंसी कहाँ से खरीदनी चाहिए और क्रिप्टो एक्सचेंज पर अकाउंट केसे बनाते हैं इसके बारे में भी पूरी जानकारी दूंगा.

अगर आपको क्रिप्टो में निवेश करना है तो मेरी राय आपके लिए ये है की इसमें केवल उतना ही पैसा डालें, जिसके खो जाने से आपकी जेब पर कोई फर्क न पड़ता हो. क्योंकि क्रिप्टो मार्केट क्रिप्टो एक्सचेंज कैसे शुरू करें के अन्दर उतार चढ़ाव बहुत अधिक होता है, अभी अगर किसी कॉइन का प्राइस १० रुपए है तो कुछ ही दिनों के भीतर उसकी कीमत 1 रुपया भी हो सकती है और 100 रुपए भी हो सकती है.

क्रिप्टो करेंसी कहां से खरीदें

किसी भी क्रिप्टो करेंसी में निवेश करने के लिए आपके पास क्रिप्टो एक्सचेंज का अकाउंट होना आवश्यक है, बिना अकाउंट खोले आप किसी भी क्रिप्टो करेंसी में निवेश नहीं कर सकते. वेसे तो भारत में क्रिप्टो एक्सचेंज के बहुत सरे ऐप मोजूद हैं, लेकिन मेरी नज़र में इनमे सबसे बेहतर ऐप WazirX है, क्रिप्टो एक्सचेंज कैसे शुरू करें क्योंकि इस पर अकाउंट बनाना और क्रिप्टो खरीदना वे बेंचा बेहद आसान है.

वजीर-एक्स पर अकाउंट बनाने के लिए आपको 5 चीज़ों की आवश्यकता होती है, इसके लिए आपके पास मोबाइल नंबर, ई-मेल आई-डी, पेनकार्ड, आधार कार्ड और बेंक अकाउंट नंबर का होना ज़रूरी है. क्योंकि बिना इनके KYC कम्पलीट नहीं हो पाती, और किसी भी क्रिप्टो को खरीदने से पहले KYC का होना ज़रूरी होता है.

अकाउंट बनाना शुरू करने से पहले इन सभी चीज़ों को अपने पास रखलें, और इस लिंक से WazirX ऐप को डाउनलोड कर के KYC कम्प्लीट करलें. अब आपके पास क्रिप्टो करंसी में निवेश करने के लिए अकाउंट मोजूद है, अब बस आप किसी भी क्रिप्टो को चुने और निवेश करना शुरू कर दें.

क्रिप्टो करेंसी में निवेश करने का सही तरीका

किसी भी क्रिप्टो में निवेश करने से पहले उस करेंसी के बारे में एक बार क्रिप्टो एक्सचेंज कैसे शुरू करें पूरी जानकारी ज़रूर पढ़ लेनी चाहिए. इसमें धियान देने वाली बात ये होती है, की उस करेंसी को किसने बनाया था, और क्या उस के डेवेलपर ने पहले भी कोई कॉइन बनाया है. अगर बनाया है तो उसका पिछला कॉइन कितना सफल रहा, इसके अलावा आप जिस क्रिप्टो करेंसी में निवेश करना चाहते हो, उसका पास्ट केसा रहा ये भी देखना ज़रूरी है.

मतलब जिस करेंसी में आप निवेश करना चाहते हो, वो कॉइन अगर 2014 में मार्केट में आया था, तो तब उसकी कीमत कितनी थी. 2014 के बाद 2017 में उस कॉइन का प्राइस कितना बढ़ा और 2018 में कितना घटा.

अगर उस कॉइन का प्राइस 2017 में 1,000% बढ़ा और 2018 में 9,00% गिरा तो आपको 2022, 23 या 24 में उसमे निवेश करने से पहले देखना होगा, उसका प्राइस 2021 में कितनी प्रतिशत बढ़ा था, और क्या उस कोइन के बढ़ने और घटने का प्रतिशत एक जेसा रहता है. इसके अलावा वो कॉइन कितने साल बाद अपने पिछले हाई प्राइस के पास आता है. इस्से आपको ये समझने में आसानी होगी की उस कॉइन में कब निवेश करना सही रहेगा और कब उस कॉइन को बेंचना सही रहेगा.

आखरी शब्द:-

मुझे लगता है ये लेख पढने के बाद आपको क्रिप्टो करेंसी में कैसे निवेश करें, इस सवाल का जवाब मिल गया होगा, इसके अलावा आपको निवेश करने का सही तरीका भी समझ आगया होगा. अगर अब भी आपका कोई सवाल है तो आप बिना झिझक मुझसे कमेन्ट के ज़रिये पूछ सकते हैं और कांटेक्ट पर क्लिक करके भी इसके बारे में सवाल पूछ सकते हैं.

अगर आपको मेरा ये लेख पसंद आया तो इसे शेयर ज़रूर करदें आपके शेयर करने से मुझे बहुत अधिक ख़ुशी मिलती है.

क्रिप्टो बैन: सही कदम या भूल

भारत में इन दिनों क्रिप्टोकरेंसी को लेकर चर्चा हरेक की जुबान पर है भले ही उसने इसमें कभी निवेश किया हो या नहीं. अब सरकार इस पर कानून लाने वाली है, लेकिन यह काम भी बड़ा उलझन भरा है. जाानिए क्यों?

भारतीय संसद के इस हफ्ते शुरू हुए शीतकालीन सत्र की खास बात कृषि या विकास संबंधी परियोजनाएं न होकर एक ऐसी करेंसी या मुद्रा रही जो न देखी जा सकती है, न छुई जा सकती है और जिसकी कीमत तेजी से घटती-बढ़ती रहती है. इसे क्रिप्टोकरेंसी या डिजिटल करेंसी कहते हैं, जिस पर सरकार या बैंक का नियंत्रण नहीं होता है. यह करेंसी ब्लॉकचेन तकनीक पर बनी होती है, जो किसी डेटा को डिजिटली सहेजता है.

अब जो करेंसी किसी के नियंत्रण में नहीं है, उस पर सरकार कानून कैसे ला सकती है? इसका जवाब हां और ना दोनों है. भले ही सरकार ने क्रिप्टोकरेंसी को लेकर कोई कानून न बनाया हो, लेकिन भारत का आयकर विभाग क्रिप्टो निवेश पर होने वाली इनकम पर टैक्स लेता है. हालांकि क्रिप्टो टैक्स के नियम ज्यादा साफ नहीं हैं, लेकिन अगर किसी निवेश पर टैक्स लिया जा रहा है तो इसका मतलब है कि सरकार उसे आय का स्रोत मान रही है.

नुकसानदेह हो सकता है सरकार का रवैया

सरकार की यह हिचक लंबे अर्से में नुकसान ही कराएगी क्योंकि कई छोटे-बड़े देशों ने क्रिप्टोकरेंसी को पेमेंट का माध्यम मान लिया है. मसलन, अमेरिका स्थित दुनिया के सबसे बड़े मूवी थिएटर चेन एएमसी ने कुछ क्रिप्टोकरेंसी से पेमेंट किए जाने को मंजूरी दे दी है. वहीं, कोरोना महामारी से बुरी तरह तबाह हो चुके टूरिज्म बिजनेस को दोबारा खड़ा करने के लिए थाइलैंड ने क्रिप्टो निवेशकों का स्वागत करते हुए कहा है कि वे उनके यहां आकर क्रिप्टो के जरिए सामान खरीद सकते हैं.

प्राइवेट बैंकों ने तो एटीएम भी लगा रखा हैतस्वीर: Christian Beutler/picture alliance/KEYSTONE/dpa

हालांकि, भारत सरकार क्रिप्टोकरेंसी को एसेट क्लास यानि स्टॉक, बॉन्ड जैसा मानने को तैयार दिख रही है. इसका मतलब है कि सरकार क्रिप्टोकरेंसी को करेंसी न मानकर निवेश का माध्यम मानने को तैयार है. संसद की ओर से जारी बुलेटिन की एक अन्य टिप्पणी भी भ्रम पैदा करने वाली है. सरकार ने कहा है कि वह प्राइवेट क्रिप्टोकरेंसी पर बैन लगा देगी. यह प्राइवेट क्रिप्टोकरेंसी आखिर है क्या? सरकार ने इसे लेकर कोई क्रिप्टो एक्सचेंज कैसे शुरू करें व्याख्या नहीं दी है. क्रिप्टो जगत में प्राइवेट क्रिप्टोकरेंसी जैसी कोई चीज होती ही नहीं है क्योंकि सारी क्रिप्टोकरेंसी ‘प्राइवेट' ही हैं, ‘पब्लिक' या सरकार के नियंत्रण में तो हैं नहीं.

ब्लॉकचेन तकनीक से परहेज नहीं

एक अन्य मुद्दा जिस पर सरकार का रुख कन्फ्यूज कर रहा है वह है डिजिटल रुपये. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया को ब्लॉकचेन तकनीक भा गई है क्योंकि इसकी वजह से रिकॉर्ड को सहेजना और करेंसी को जारी करना आसान है. सरकार को भले क्रिप्टोकरेंसी से दिक्कत हो, लेकिन वह खुद रुपये को डिजिटली जारी करना चाहती है. यानि हो सकता है कि भारतीय रुपया जल्द ही बिटकॉइन या डॉजकॉइन की तरह डिजिटल हो जाए.

हाल के दिनों में सरकार के रवैये ने आम भारतीय क्रिप्टो निवेशकों को खूब छकाया. भारतीय क्रिप्टो एक्सचेंज जैसे वजीरएक्स और कॉइनडीसीएक्स पर निवेशकों ने जल्दबाजी में अपनी करेंसी बेच डाली. पुराने और मंझे हुए क्रिप्टो निवेशकों ने इसका फायदा उठाया और गिरे हुए भाव पर दाव लगाकर क्रिप्टोकरेंसी को अपनी झोली में डाल लिया. ऐसा ही होता है क्रिप्टोकरेंसी बाजार में, जहां कीमत के गिरने का इंतजार कर रहे निवेशक झट से पैसे लगाकर प्रॉफिट लेकर चले जाते हैं.

कंपनियों को सरकार के फैसले का इंतजार

भारत में स्थित क्रिप्टो कंपनियां फिलहाल सरकार के बिल लाने का इंतजार कर रही हैं. वह कई वर्षों से सरकार के साथ बातचीत कर रही थीं क्योंकि उन्हें मालूम है कि रेगुलेशन और कानून आने से उन्हीं का फायदा होगा और क्रिप्टो को लेकर आम लोगों में विश्वास जगेगा. यही वजह है कि क्रिप्टो बिल को लेकर तमाम अटकलों के बावजूद अरबों की संपत्ति वाला क्रिप्टो एक्सचेंज कॉइनडीसीएक्स अब अपना आईपीओ शेयर बाजार में लाने वाला है. आईपीओ के जरिए उसे विस्तार मिलेगा और वह आम लोगों में अपने शेयर बेचकर धन की उगाही कर सकेगा.

कई देशों में बिटकॉइन के प्रचार की कोशिशें हो रही हैंतस्वीर: Salvador Melendez/AP Photo/picture alliance

भारत को लेकर बड़ी कंपनिया आश्वस्त हैं कि यहां चीन की तरह क्रिप्टो पर बैन लगाकर तानाशाही नहीं चलेगी. एनालिटिक फर्म चेनएनालिसिस ने भी भारत को क्रिप्टो का हब करार दिया है, जो बिना किसी गाइडलाइंस के देश ने हासिल किया है. यह बड़ी उपलब्धि है और सरकार को इसे गंवाना नहीं चाहिए.

XBO.com ने ऑस्ट्रेलिया और पोलैंड में अपना लाइसेंस प्राप्त Gamified क्रिप्टो एक्सचेंज लॉन्च किया

XBO.com, क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज जो क्रिप्टो के लाभों को सभी के लिए अधिक सुलभ बनाता है, ने अपना प्लेटफॉर्म लॉन्च किया। यह प्लेटफॉर्म एक गेमिंग-प्रेरित यूजर इंटरफेस और व्यापारियों को मौजूदा एक्सचेंज प्लेटफॉर्म के लिए एक विश्वसनीय और उपयोग में आसान विकल्प प्रदान करने के लिए सबसे अच्छा सुरक्षा समाधान फ्यूज करता है।

XBO.com के प्री-लॉन्च के बाद, जहां शुरुआती साइन-अप विशेष पुरस्कार और खाता विशेषाधिकार अर्जित कर सकते हैं, एक्सचेंज प्लेटफॉर्म सभी क्रिप्टोकुरेंसी उपयोगकर्ताओं के उपयोग के लिए तैयार है।

सोशल मीडिया पर हर दो सेकेंड में एक क्रिप्टोकरेंसी पोस्ट दिखाई देती है। भालू बाजार के दौरान भी संस्थान डिजिटल संपत्ति खरीद रहे हैं। हालांकि, खुदरा निवेशक, जिनका वित्तीय रूप से साक्षर बनना तय था, अभी भी नौसिखिए हैं।

वफादारी कार्यक्रम

XBO.com एक लॉयल्टी प्रोग्राम प्रदान करता है जो उपयोगकर्ताओं को प्रत्येक अंक के संचय और चरणों के बीच संक्रमण के साथ लाभ की गारंटी देता है। डायमंड स्तर पर, उदाहरण के लिए, उपयोगकर्ताओं को गोल्ड स्तर की तुलना में क्रिप्टो इनाम के मूल्य का 10 गुना मिलता है। डायमंड स्तर के लिए 650,000 अनुभव अंक (XP) की आवश्यकता होती है।

बोरेड एप यॉट क्लब (बीएवाईसी) एनएफटी मालिकों को अपनी संपत्ति के आईपी को पट्टे पर देने का अवसर प्रदान करने वाली XBO.com प्रतियोगिता अभी भी जारी है, और विजेता के NFT को आधिकारिक XBO.com शुभंकर के रूप में चिह्नित किया जाएगा।

XBO.com प्लेटफॉर्म के लॉन्च के हिस्से के रूप में, पूर्व-पंजीकृत उपयोगकर्ताओं को तुरंत गोल्ड खाते की स्थिति में अपग्रेड कर दिया जाता है। गोल्ड स्टेटस उन्हें क्रिप्टो डिपॉजिट, एक्सचेंज कैशबैक, स्पॉट ट्रेडिंग, क्रिप्टो रिवार्ड्स और बहुत कुछ पर कमीशन देता है। पहले पंजीकरण कराने वालों के पास ब्लैक डायमंड स्तर तक पहुंचने का भी अवसर होता है, जो प्लेटफॉर्म पर सर्वोच्च स्थिति है।

Xbox . के बारे में

XBO.com एक क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज प्लेटफॉर्म है जो सभी प्रकार के क्रिप्टोक्यूरेंसी निवेशकों के लिए बनाया गया है। प्लेटफ़ॉर्म व्यापार के लिए एक सुरक्षित वातावरण प्रदान करता है, अपलोड प्रक्रिया को तेज करने के लिए डिज़ाइन किए गए अत्याधुनिक सत्यापन उपायों के साथ-साथ नौसिखिए व्यापारियों के लिए एक साधारण क्रिप्टो एक्सचेंज कैसे शुरू करें स्क्रीन के साथ छवियों को अनुकूलित करने की क्षमता या अधिक अनुभवी व्यापारियों के लिए एक विस्तृत दृश्य प्रदान करता है। .

अद्वितीय पुरस्कार प्रणाली सुनिश्चित करती है कि व्यापारियों को उनकी भागीदारी के लिए मुआवजा दिया जाता है, साथ ही विभिन्न व्यापारिक शैलियों से लाभ उठाने में सक्षम होते हैं। अधिक जानकारी के लिए देखें: https://www.xbo.com/।

अस्वीकरण: इस लेख में प्रदान की गई सामग्री और लिंक केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए हैं। क्रिप्टोनोटिसियस कानूनी, वित्तीय या निवेश अनुशंसाओं या सलाह की पेशकश नहीं करता है, न ही यह प्रत्येक इच्छुक पार्टी के उचित परिश्रम को प्रतिस्थापित करता है। क्रिप्टोनोटिसियस किसी भी निवेश प्रस्ताव या यहां प्रचारित पसंद का समर्थन नहीं करता है। अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

Cryptocurrency: जानिए किस तरह खरीद सकते हैं क्रिप्टोकरेंसी और कहां कर सकते हैं स्टोर

Cryptocurrency: क्रिप्टो एक्सचेंज प्लेटफॉर्म पर यदि आप जाएंगे तो वहां बायर्स और सेलर्स ट्रेडिंग करते हैं। कई एक्सचेंज ऐसे होते हैं जो एक साथ कई करेंसीज़ को सपोर्ट करते हैं- जैसे बिटकॉइन, रिपल, एथर, टेदर, कारडानो। हालांकि अब भारत में भी कई एक्सचेंज काम करने लगे हैं। लेकिन एक्सचेंज पर ट्रेडिंग शुरू करने से पहले क्रिप्टो एक्सचेंज कैसे शुरू करें यह देख लें कि ये एक्सचेंज अच्छी वजहों से चर्चा में है न कि बुरी वजहों से।

bitcoin, cryptocoin, digital money

नई दिल्ली। देश-दुनिया में तेजी से अपनी अलग पहचान बनाने वाली क्रिप्टो करेंसी में लोगों की काफी दिलचस्पी बढ़ गई हैं। आज करोड़ों लोग क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कर रहे हैं, जिसका अच्छा खासा फायदा भी लोगों को मिल रहा है। लेकिन आज भी हर किसी को नहीं पता कि बिटकॉइन या ऐसी कोई दूसरी क्रिप्टोकरेंसी कैसे खरीदी जा सकती है या उसे स्टोर कैसे किया जा सकता है। ये दो चीजें निवेशों को थोड़ी मुश्किल लगती है। लेकिन हम आपको बता दें कि यह दोनों ही चीजें काफी आसान है। आज क्रिप्टोकरेंसी की पॉपुलैरिटी को देखते हुए सामान्य व्यक्ति भी इसमें निवेश करने के बारे में सोच रहा है। ऐसे में हर किसी के लिए यह जानना बहुत जरूरी है कि आखिर यह तकनीक काम कैसे करती है।

रेटिंग: 4.60
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 452
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *