क्रिप्टो ब्रोकर

करेंट अकाउंट क्या है हिंदी में

करेंट अकाउंट क्या है हिंदी में
उम्मीद है Current Account Meaning in Hindi ये आर्टिकल आपको पसंद आया होगा, क्योंकि यंहा पर मैंने करेंट एकाउंट के बारे में डिटेल में बताया है।

Current account

चालू खाता (Current Account) क्या होता है

जब आप बैंक में अपना बैंक अकाउंट ओपन (Bank Account Open) करने जाते है तो आपको एक फॉर्म दिया जाता है जिसे आपको भरना होता है और इसे अपने डाक्यूमेंट्स के साथ बैंक को सबमिट करना होता है जिससे आपका बैंक अकाउंट खुल जाता है लेकिन जब बैंक अकाउंट का फॉर्म भरा जाता है तब आपसे फॉर्म में हमेशा पूछा जाता है की आपको सेविंग अकाउंट (Saving Account) ओपन करना है या करंट अकाउंट (Current Account) ? तो यहाँ पर सवाल आता है की आखिर ये करंट अकाउंट क्या होता है (What is Current Account ?) चालू खाता का मतलब (Meaning of Current Account in hindi) और बैंक में चालू खाता ओपन कैसे करे और इसके लिए क्या क्या डाक्यूमेंट्स चाहिए पूरी जानकारी.

बचता खाता एक ऐसे चीज़ है जो की आम इंसान के लिए नही बल्कि ऐसो लोगो के लिए बनाना गया है जो रोजाना लेन देन का काम करते है और ये लेन देन काम हजारो लाखो यहाँ तक करोडो में किया जाता है और इसके लिए कोई लिमिट यानि सीमा नहीं है आप जितना मर्जी लेन देन कर सकते है लेकिन अगर आप एटीएम (ATM) से निकाशी करते है यानि पैसे निकालते है तो इसकी सीमा (Limit) की सही जानकारी आपके बैंक वाले दे सकते है करंट अकाउंट (Current Account) में चलिए विस्तार में जानते है की आखिर ये बचत खाता क्या है (What is Current Account करेंट अकाउंट क्या है हिंदी में information in hindi) बचत खाता की पूरी जानकारी हिंदी में .

Current Account क्या होता है ? बचत खाता का मतलब

करंट अकाउंट करेंट अकाउंट क्या है हिंदी में जिसे हम चालू खाता भी कहते है जैसा की आपको नाम से ही पता चल रहा है करेंट का मतलब होता है अभी फ़िलहाल जो चल रहा है अगर आप ऐसा खाता चाहते है जहा पर पैसे का लेन देन रोजाना हर समय होता है तो इसके लिए आप करंट अकाउंट का इस्तेमाल कर सकते है ये अकाउंट किसी कंपनी (Company), पब्लिक इंटरप्राइजेज (Public enterprises), बिजिनेसमेन (Businessmen) के लिए होता है जहा पर पैसे का लेन देन यानि ट्रांजेक्शन (transaction) एक बड़े पेमाने पे होता है ऐसे लोग करंट अकाउंट यानि चालु खाता का इस्तेमाल करते है

जैसा की आप जानते है ये एक चालू खता है जिसमे आपने जितने मर्जी चाहे एक दिन में पैसे का लें देन कर सकते है इसमें कोई लिमिट नही है इसी के चलते यहाँ पर आरबीआई (RBI) ने रूल यानि नियम बना रखा है की किसी भी तरह के करंट अकाउंट में आपको ब्याज नही मिलेगा यानि को कोई इंटरेस्ट नही मिलेगा भले ही आपके कितने भी पैसा जमा कराये या लेन देन करे

Current Account Meaning in Hindi

आज के इस आर्टिकल में हम आपको करेंट एकाउंट का मीनिंग (मतलब) बताएंगे। अगर आपको भी करेंट का क्या मतलब होता है, इसकी तलाश है तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पढ़ रहे हैं, इस पोस्ट में करेंट एकाउंट से जुड़ी सारी जानकारी मिलेगी।

करेंट एकाउंट का हिंदी में मीनिंग चालू खाता होता है। ये एक ऐसा अकाउंट होता है जिसमें हर समय लेंन देंन किया जाता है। जैसेकि इसका नाम ही (Current Account) चालू खाता है।

यह खाता मुख्य रूप से, बिजनेसमैन, व्यवसायियों, कंपनियों, फर्मों, दुकानदारों, सार्वजनिक उद्यमों आदि के लिए होता है, जिसमे दैनिक लेनदेन होता है।

What is Current Account in Hindi

करेंट एकाउंट का मतलब चालू खाता होता है। यह खाता कंपनी या कारोबारियों, बिजनेसमैन के लिए होता है। क्योंकि इनको रोजाना पैसों के लेनदेन की जरूरत होती है। जंहा पर पैसों का लेनदेन बड़े स्तर पर होता है, वहां पर लोग करेंट अकाउंट का इस्‍तेमाल किया जाता है।

करेंट अकाउंट बिजनेस और व्यवसाय चलाने वाले लोगों के लिए एक इस तरह का बैंक खाता होता है, जोकीं रोजमर्रा के बिजनेस से संबंधित ट्रांजेक्‍शन करने की सहूलियत देता है।

करेंट अकाउंट में डाले गए पैसे को किसी भी समय बैंक की शाखा या एटीएम से निकाला जा सकता है। इसमें तरह के खाते में कोई बंदिश नहीं होती है। खाताधारक इस खाते में से कितनी भी बार चाहें पैसे को निकाल और जमा कर सकते हैं। यानीकि चालू खाते में से आप अपनी इच्छानुसार दिन में जितने चाहें उतनी बार लेनदेन कर सकते हैं।

इस एकाउंट का इस्‍तेमाल इलेक्‍ट्रॉनिक ट्रांजिक्शन या चेक ट्रांजेक्‍शन (Transitation) के लिए होता है।

Benefits of Current Account in Hindi

करंट अकाउंट में डिमांड ड्राफ्ट की सुविधा से पैसा जमा करना व ट्रांसफर कर बहुत आसान हो जाता है। इसमें बैंक अकॉउंट होल्डर को डोर स्टेप बैंकिंग, टेलिफोनिक बैंकिंग, ऑनलाइन बैंकिग जैसी सुविधाएं देते हैं। इस अकाउंट से आप लोन भी ले सकते हैं। इसके करंट एकाउंट होल्डर देश में कहीं भी किसी भी ब्रांच से लेनदेन कर सकते हैं।

इस खाते से आप चाहें जितनी बार लेन- देन करें।

Current Account और सेविंग एकाउंट में अंतर

सेविंग अकाउंट अकेले या जॉइंटली खुलवाया जा सकता। इस पर लगभग 4 से 6 फीसदी तक ब्याज मिलता है। ज्यादातर बैंक में इस खाते को ओपेन रखने के लिए मिनिमम राशि कहते में रखना जरूरी होता है। सेविंग अकाउंट भी कई तरह के होते हैं जैसे रेगुलर सेविंग अकाउंट, जीरो बैलेंस सेविंग अकाउंट, सैलरी सेविंग अकाउंट, और सीनियर सिटीजन सेविंग एकाउंट।

वंही करेंट एकाउंट रेगुलर ट्रांजेक्शन के लिए सही रहता है। यह अकाउंट उन लोगों के लिए है जो बिजनेस करते हैं या रोजाना ट्रांजेक्शन करते हैं। ये अकाउंट ज्यादातर बिजनेस आर्गेनाइजेशन, फर्म, कपनी आदि रखते हैं। इसमें खाते में पैसा जमा कराने और निकालने की भी कोई लिमिट नहीं होती है। करंट खाताधारकों को जमा पैसे पर कोई ब्याज नहीं मिलता है।

Saving Vs Current Account: बैंक के सेविंग और करंट अकाउंट में क्या होता है अंतर, दोनों अकाउंट में मिलते हैं ये लाभ

By: ABP Live | Updated at : 30 Jan 2022 11:20 AM (IST)

Edited By: Taruna

सेविंग और करंट अकाउंट में अंतर

Saving and Current Account Difference: आजकल देश में हर किसी के पास बैंक खाता हो गया है. ज्यादातर सरकारी योजनाओं (Government Schemes) के लाभ आपको बैंक अकाउंट के द्वारा ही मिलते हैं. बैंक में खाता खुलवाते वक्त आपको अकाउंट खोलने का फार्म (Account Opening Form) दिया जाता है. इस फॉर्म में आपसे यह जानकारी ली जाती है कि आप सेविंग / करंट अकाउंट (Saving and Current Account) में कैन-सा खुलवाना चाहते हैं. लेकिन, यह बहुत कॉमन है कि ज्यादातर लोग सेविंग अकाउंट ही खुलवाते हैं. इसके अलावा हम जब भी ATM से पैसे निकालते हैं तो उस दौरान भी हमें स्क्रीन पर अकाउंट को चुनने का ऑप्शन आता है. हमें बताना पड़ता है कि हमारा अकाउंट सेविंग है या करंट है.

Current Account Meaning in Hindi

आज के इस आर्टिकल में हम आपको करेंट एकाउंट का मीनिंग (मतलब) बताएंगे। अगर आपको भी करेंट का क्या मतलब होता है, इसकी तलाश है तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पढ़ रहे हैं, इस पोस्ट में करेंट एकाउंट से जुड़ी सारी जानकारी मिलेगी।

करेंट एकाउंट का हिंदी में मीनिंग चालू खाता होता है। ये एक ऐसा अकाउंट होता है जिसमें हर समय लेंन देंन किया जाता है। जैसेकि इसका नाम ही (Current Account) चालू खाता है।

यह खाता मुख्य रूप से, बिजनेसमैन, व्यवसायियों, कंपनियों, फर्मों, दुकानदारों, सार्वजनिक उद्यमों आदि के लिए होता है, जिसमे दैनिक लेनदेन होता है।

What is Current Account in Hindi

करेंट एकाउंट का मतलब चालू खाता होता है। यह खाता कंपनी या कारोबारियों, बिजनेसमैन के लिए होता है। क्योंकि इनको रोजाना पैसों के लेनदेन की जरूरत होती है। जंहा पर पैसों का लेनदेन बड़े स्तर पर होता है, वहां पर लोग करेंट अकाउंट का इस्‍तेमाल किया जाता है।

करेंट अकाउंट बिजनेस और व्यवसाय चलाने वाले लोगों के लिए एक इस तरह का बैंक खाता होता है, जोकीं रोजमर्रा के बिजनेस से संबंधित ट्रांजेक्‍शन करने की सहूलियत देता है।

करेंट अकाउंट में डाले गए पैसे को किसी भी समय बैंक की शाखा या एटीएम से निकाला जा सकता है। इसमें तरह के खाते में कोई बंदिश नहीं होती है। खाताधारक इस खाते में से कितनी भी बार चाहें पैसे को निकाल और जमा कर सकते हैं। यानीकि चालू खाते में से आप अपनी इच्छानुसार दिन में जितने चाहें उतनी बार लेनदेन कर सकते हैं।

इस एकाउंट का इस्‍तेमाल इलेक्‍ट्रॉनिक ट्रांजिक्शन या चेक ट्रांजेक्‍शन (Transitation) के लिए होता है।

Benefits of Current Account in Hindi

करंट अकाउंट में डिमांड ड्राफ्ट की सुविधा से पैसा जमा करना व ट्रांसफर कर बहुत आसान हो जाता है। इसमें बैंक अकॉउंट होल्डर को डोर स्टेप बैंकिंग, टेलिफोनिक बैंकिंग, ऑनलाइन बैंकिग जैसी सुविधाएं देते हैं। इस अकाउंट से आप लोन भी ले सकते हैं। इसके करंट एकाउंट होल्डर देश में कहीं भी किसी भी ब्रांच से लेनदेन कर करेंट अकाउंट क्या है हिंदी में सकते हैं।

इस खाते से आप चाहें जितनी बार लेन- देन करें।

Current Account और सेविंग एकाउंट में अंतर

सेविंग अकाउंट अकेले या जॉइंटली खुलवाया जा सकता। इस पर लगभग 4 से 6 फीसदी तक ब्याज मिलता है। ज्यादातर बैंक में इस खाते को ओपेन रखने के लिए मिनिमम राशि कहते में रखना जरूरी होता है। सेविंग अकाउंट भी कई तरह के होते हैं जैसे रेगुलर सेविंग अकाउंट, जीरो बैलेंस सेविंग अकाउंट, सैलरी सेविंग अकाउंट, और सीनियर सिटीजन सेविंग एकाउंट।

वंही करेंट एकाउंट रेगुलर ट्रांजेक्शन के लिए सही रहता है। यह अकाउंट उन लोगों के लिए है जो बिजनेस करते हैं या रोजाना ट्रांजेक्शन करते हैं। ये अकाउंट ज्यादातर बिजनेस आर्गेनाइजेशन, फर्म, कपनी आदि रखते हैं। इसमें खाते में पैसा जमा कराने और निकालने की भी कोई लिमिट नहीं होती है। करंट खाताधारकों को जमा पैसे पर कोई ब्याज नहीं मिलता है।

मिनिमम औसत बैलेंस रखना अनिवार्य है
minimum balance required in account

बैंक के करेंट अकाउंट में न्यूनतम बैलेंस रखना अनिवार्य है। कुछ बैंक औसत मासिक बैंलेंस (average monthly balance) के हिसाब से न्यूनतम बैंलेंस की लिमिट रखते हैं और कुछ बैंक औसत तिमाही बैलेंस (quarterly balance) के हिसाब से न्यूनतम बैलेंस की लिमिट रखते हैं। अकाउंट की कैटेगरी के हिसाब से यह लिमिट कम-ज्यादा होती है। जिस अकाउंट में जितनी ज्यादा मिनिमम बैलेंक की लिमिट रहती है, उसमें ट्रांजेक्शन्स की भी उतनी ज्यादा सुविधा रहती है। उदाहरण के लिए, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) में खोले जाने वाले अलग-अलग कैटेगरी के करंट अकाउंट में मिनिमम बैलेंस की लिमिट इस प्रकार है-

एसबीआई करंट अकाउंट का प्रकारआवश्यक औसत मासिक बैलेंस (MAB)अन्य शाखाओं (NonHome Branch) पर नगदी (Cash) जमा करने की लिमिट अन्य शाखाओं (NonHome Branch) पर नकदी (Cash) निकालने कि लिमिट अकाउंट के साथ निशुल्क चेक बुक्स की लिमिट (Free Cheque Leaves limit)
SBI Regular Current AccountRs.5000/-1 लाख रुपए प्रतिदिन1 लाख रुपए प्रतिदिन50 प्रतिमाह
SBI Gold Current AccountRs.करेंट अकाउंट क्या है हिंदी में 100000/-2 लाख रुपए प्रतिदिन1 लाख रुपए प्रतिदिन300 प्रतिमाह
SBI Diamond Current AccountRs.500000/-2 लाख रुपए प्रतिदिन1 लाख रुपए प्रतिदिन700 प्रतिमाह
SBI Platinum Current AccountRs.1000000/-2 लाख रुपए प्रतिदिन1 लाख रुपए प्रतिदिनUnlimited Free

मिनिमम बैलेंस न रखने पर पेनाल्टी भी चुकानी पड़ती है

करंट अकाउंट में निर्धारित मिनिमम बैलेंस न रखने पर, आपको पेनाल्टी भी चुकानी पड़ती है। एसबीआई के अलग-अलग टाइप के करेंट अकाउंट क्या है हिंदी में करंट अकाउंट के लिए पेनाल्टी की रकम इस प्रकार होती है-

  • SBI रेगुलर करंट अकाउंट में मिनिमम बैलेंस न रखने पर पेनाल्टी: Rs.500+ GST per month
  • SBI गोल्ड करंट अकाउंट में मिनिमम बैलेंस न रखने पर पेनाल्टी: Rs.2000+ GST per month
  • SBI डायमंड करंट अकाउंट में मिनिमम बैलेंस न रखने पर पेनाल्टी:
    • Rs.4000+GST per month: अगर MAB 2.5 लाख रुपए से कम है तो
    • Rs.2000+GST per month: अगर MAB 2.5 लाख रुपए से अधिक है तो
    • Rs. 8000+ GST per month: अगर MAB 5 लाख रुपए से कम है तो
    • Rs.करेंट अकाउंट क्या है हिंदी में 4000+ GST per month: अगर MAB 5 लाख रुपए से अधिक है तो

    एटीएम, इंटरनेंट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग की सुविधाएं
    ATM, internet banking, Mobile banking facilities

    सेविंग अकाउंट की तरह करेंट अकाउंट के साथ भी आपको एटीएम कार्ड मिलता है। इंटरनेंट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, चेकबुक वगैरह की सुविधाएं भी मिलती है। सेविंग अकाउंट की तरह इसका बैंलेंस या स्टेटमेंट जाना जा सकता है। लोन की ईएमआई या बिजली-पानी के बिल के भुगतान के लिए भी करंट अकाउंट का इस्तेमाल कर सकते हैं। इनके लिए standing instructions (स्थायी अनुदेश) भी दर्ज कराए जा सकते हैं।

    करंट अकाउंट के साथ आपको ओवरड्राफ्ट की भी सुविधा मिलती है। overdraft facility ऐसी सुविधा होती है, जिसमें आप अपने अकाउंट में बैलेंस न होने पर भी एक निश्चित सीमा में पैसा निकाल सकते हैं। लेकिन, ओवरड्राफ्ट के माध्यम से निकाले गए पैसों को एक निश्चित अवधि के भीतर जमा भी करना पड़ता है। किसी भी बिजनेस की working capital संबंधी जरूरतों के लिए यह सुविधा काफी काम की होती है।

रेटिंग: 4.14
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 868
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *