निवेश न्यूज़

क्या हमें बीएसवी टोकन में निवेश करना चाहिए?

क्या हमें बीएसवी टोकन में निवेश करना चाहिए?
5. कलियों के साथ अंकुरित हो जाता है, तो यह तैयार हो जाता है। अधिक कलियों का मतलब पौधे के बढ़ने की संभावना ज़्यादा होना है।

UP Chunav

एक मुद्रा के रूप में बिटकॉइन और निवेश-खोज के फायदे बेहतर समझने के लिए

क्या आपने कभी अपने मित्रों और रिश्तेदारों से बिटकॉइन निवेश के बारे में पूछा क्या हमें बीएसवी टोकन में निवेश करना चाहिए? है? इसके लाभों की व्याख्या करने के बाद, यह निवेश में शुरुआती लोगों का मार्गदर्शन करेगा। क्या यह व्यापारियों या निवेशकों के लिए एक बढ़िया विकल्प है? समझौते को समझने से डिजिटल प्लेटफॉर्म में लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद मिलेगी। बटुए के निर्माण के साथ, टोकन वापस करने का एक शानदार अवसर है।

व्यापारियों और निवेशकों को बैल बाजार को सुनना चाहिए और निवेश करना चाहिए। डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म पर बिटकॉइन के उपयोग के संभावित लाभों के बारे में जानकारी प्रदान करें। प्लेटफ़ॉर्म पर टोकन चुनना प्रभावी परिणामों के लिए है। विशेषज्ञ की व्याख्या सुनें और एक बटुआ बनाने के लाभों के बारे में जानें।

आइए डिजिटल प्लेटफॉर्म पर बिटकॉइन में निवेश के लाभों का अध्ययन करें

अपने अनुभव को बेहतर बनाने के लिए निवेशकों को विभिन्न लाभ प्रदान किए जाते हैं। लेनदेन में कोई तीसरा पक्ष शामिल नहीं है, और लेनदेन शुल्क कम है। बाजार का विश्लेषण करने से बिटकॉइन सर्किट जैसे प्लेटफार्मों पर व्यापारियों का लाभ बढ़ेगा।

1. धोखाधड़ी और जोखिम की संभावना को कम करें

बिटकॉइन में निवेश का एक सबसे बड़ा लाभ यह है कि इसमें तीसरे पक्ष का हस्तक्षेप शामिल नहीं है। निवेशक अपने ट्रेडिंग अनुभव को बेहतर बनाने के लिए उन्हें नियंत्रित कर सकते हैं। टोकन के लेन-देन और भंडारण को पूरी तरह से नियंत्रित करने से, धोखाधड़ी और जोखिम की संभावना कम होती है। डिजिटल प्लेटफॉर्म पर सामान और सेवाओं की खरीद के लिए व्यापारी सुरक्षा बहुत उपयुक्त है। यह व्यापारियों के लिए सुरक्षित भुगतान पद्धति के रूप में कार्य करता है।

2. निवेशक की अपस्फीति मुद्रा

सपा प्रत्याशी चंद्रवती वर्मा का बिकनी अवतार, 'ओले-ओले' गाने पर डांस कर मचाया धमाल

सपा प्रत्याशी चंद्रवती वर्मा वायरल वीडियो की वजह से चर्चा में हैं.

सपा प्रत्याशी चंद्रवती वर्मा वायरल वीडियो की वजह से चर्चा में हैं.

UP Assembly Elections: गोहांड ब्लॉक के इटौरा गांव निवासी धनीराम वर्मा की बेटी चंद्रवती हैदराबाद में जिम ट्रेनर रहीं हैं . अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated : February 03, 2022, 11:28 IST

हमीरपुर. उत्‍तर प्रदेश की राठ विधानसभा सीट (क्या हमें बीएसवी टोकन में निवेश करना चाहिए? Rath Assembly Seat) से समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) की महिला प्रत्याशी चंद्रवती वर्मा (Chandrawati Verma) इन दिनों काफी चर्चा में हैं. सपा प्रत्याशी चंद्रवती वर्मा का दो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. एक वीडियो में चंद्रवती वर्मा अपनी दो सहेलियों के संग फिल्मी गाने पर डांस करती नजर आ रही हैं. वहीं, दूसरे वीडियो में स्विमिंग पूल में स्विमिंग कॉस्ट्यूम में नजर आ रही हैं. दोनों वीडियो वायरल होने के बाद चंद्रवती वर्मा जिले में चर्चा का विषय बन गई हैं.

गौरतलब है कि गोहांड ब्लॉक के इटौरा गांव निवासी धनीराम वर्मा की बेटी चंद्रवती हैदराबाद में जिम ट्रेनर रही हैं. उन्‍होंने गोहांड इंटर कॉलेज से इंटर की पढ़ाई के बाद उरई से स्नातक किया. खेलकूद में रुचि होने पर वह फिटनेश ट्रेनर बन गईं. कुछ समय तक एक जिम में काम करने के बाद खुद की कंपनी खोल ली. विधानसभा चुनाव से पहले ही वह क्षेत्र में सक्रिय हो गईं थीं. समाजवादी पार्टी ने पहले राठ विधानसभा सीट से पूर्व विधायक गयादीन अनुरागी को टिकट दिया था. लेकिन 24 घंटे के भीतर ही उनका टिकट काटकर चंद्रवती वर्मा को राठ विधानसभा सीट से प्रत्याशी घोषित किया.

प्रयागराज में सब्जियों के बढ़े दाम

संगम नगरी प्रयागराज में भी सब्जियों की महंगाई ने शहर वासियों को परेशान कर रखा है. सब्जियों के दामों में अचानक उछाल आ गया है. इस वक्त मंडियों में हरी सब्जियां जैसे कि टमाटर, हरा धनिया, हरा प्याज, पालक, फूल गोभी, घीया, टिंडा की बढ़ी हुई कीमतें लोगों की जेब पर कैंची चला रही हैं.

यहां के दुकानदारों और लोगों का मानना है कि डीजल और पेट्रोल के बढ़ते दामों के कारण महंगे ट्रांसपोर्टेशन की वजह से इन सब्जियों क्या हमें बीएसवी टोकन में निवेश करना चाहिए? के दाम बढ़े हैं.

इस बीच, जो टमाटर लोग एक से दो किलो लेते थे आज वो पाव क्या हमें बीएसवी टोकन में निवेश करना चाहिए? भर या आधा किलो से ही काम चला रहे हैं. सर्दियों में 20 रुपये के भाव मिलने वाला टमाटर मंडियों में 60 रुपये से 80 रुपये प्रति किलो के भाव बिक रहा है.

सब्जियों की कीमतों का क्या हमें बीएसवी टोकन में निवेश करना चाहिए? मेरठ में क्या है हाल?

मेरठ में भी लगातार सब्जियों की कीमतों में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है. पिछले एक हफ्ते में सबसे ज्यादा टमाटर और प्याज के दामों में बढ़ोतरी देखने को मिली है. मेरठ की सदर बाजार सब्जी मंडी में लोगों का कहना है कि लगभग एक हफ्ते में टमाटर और प्याज के दाम करीब दोगुने हो गए हैं.

एक सप्ताह पहले जहां टमाटर के दाम 20 से 25 रुपये प्रति किलो थे अब वो 60 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गए हैं. यही हाल प्याज का भी है. प्याज एक हफ्ते पहले 30 रुपये प्रति किलो बिक रही थी, अब प्याज 50 से 60 रुपये प्रति किलो के आसपास बिक रही है. जिले में लोग महंगाई से लगातार परेशान हैं और उनका कहना है कि सब्जियों के साथ-साथ पेट्रोल, डीजल और गैस के दाम भी बढ़ रहे हैं, जिस पर सरकार को ध्यान देना चाहिए.

वाराणसी में भी महंगी हुईं सब्जियां

वाराणसी में भी पिछले 10 दिनों में सब्जियों के दाम करीब डेढ़ से दोगुने हो गए हैं. जिससे लोगों के घर का बजट बिगड़ गया है.

ऐसे में क्या हमें बीएसवी टोकन में निवेश करना चाहिए? त्योहारों के मौके पर लोग दूसरी खरीदारी में कटौती कर रहे हैं. वहीं, दुकानदार पहले से बिक्री और आमदनी आधी हो जाने की बात कह रहे हैं. उनका कहना है कि लोग सिर्फ जरूरत भर की ही चीजों को खरीद रहे हैं.

वाराणसी के फुटकर बाजार में सब्जियों के भाव प्रति किलो के हिसाब से इस प्रकार हैं-

प्याज- 30 से बढ़कर 50 रुपये प्रति किलो

टमाटर- 40 से बढ़कर 60 रुपये प्रति किलो

शिमला मिर्च- 60 से बढ़कर 120 रुपये प्रति किलो

बैगन- 40 से बढ़कर 60 रुपये प्रति किलो

बोड़ा- 40 से बढ़कर 80 रुपये क्या हमें बीएसवी टोकन में निवेश करना चाहिए? प्रति किलो

भिंडी- 40 से बढ़कर 60 रुपये प्रति किलो

गाजर- 60 से बढ़कर 80 रुपये प्रति किलो

किचन में रखी ये चीज आपको बना देगी करोड़पति! बस अपनाएं ये नए तरह की खेती

Turmeric Farming

अगर आप नौकरी की बजाय अपना खुद का बिजनेस (Business) शुरू कर मोटी कमाई करना चाहते हैं तो ये लेख आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है. इस लेख में हम आपको एक ऐसी चीज की खेती के बारे में बताएंगे जिसे शुरू करके आप बंपर कमाई कर सकते हैं. दरअसल हम बात कर रहे हैं 'हल्दी की खेती' (Turmeric Farming) के बारे में. इस खेती को शुरू करके आप लाखों नहीं करोड़ों रुपये की कमाई कर सकते हैं. खेती के लिए जमीन की आवश्यकता पड़ती है, लेकिन आज के समय में बढ़ती आबादी, घर-मकान और फैक्ट्री के चलते खेती की जमीन कम होती जा रही है. ऐसे में आप खेती की नई तकनीक अपनाकर मोटी कमाई कर सकते हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि खेती में एक नई तकनीक आई है जिसका नाम 'वर्टिकल फार्मिंग' (Vertical Farming) है. इस तरीके को अपनाकर एग्रीकल्चर से जुड़ी बड़ी-बड़ी कंपनियां खेती करती हैं. लोगों का दावा है कि इस तकनीक की सहायता से एक एकड़ जमीन में 100 एकड़ के बराबर पैदावार की जा सकती है. यदि आप अपना खुद का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो बता दें कि आप हल्दी की वर्टिकल फार्मिंग करके करोड़ों रुपये छाप सकते हैं.

मुलायम प्याज?

केवल आधे प्याज़ से नियमित रूप से ताज़ा प्याज़ पाया जा सकता है।

How to grow vegetables

1. जड़ की तरफ से एक छोटा या मध्यम आकार क्या हमें बीएसवी टोकन में निवेश करना चाहिए? का प्याज काटें। सुनिश्चित करें कि प्याज़ का कुछ हिस्सा उसमें लगा हुआ हो।

2. एक कंटेनर में मिट्टी क्या हमें बीएसवी टोकन में निवेश करना चाहिए? और खाद मिलाएं और इस प्याज़ को उसमें लगाएं। गर्म, सूखी जगह पर रखें। इसे लगभग तीन सप्ताह तक रोजाना पानी दें। इस समय तक, इसे बढ़ना शुरू हो जाना चाहिए।

3. एक बार जब अंकुर दो इंच लंबे हो जाते हैं, तो प्याज को मिट्टी से बाहर निकालें और लगा गए प्याज़ के टुकड़े को अलग करें।

4. अब एक बड़े कंटेनर (या सीधे जमीन में) में उन प्याज़ के टुकड़ों को अलग से लगाए। यह सुनिश्चित करें कि इसे पोषित रखने के लिए खाद पर्याप्त है। अगले दो महीने तक उन्हें हर दिन पानी दें। फसल छह सप्ताह के भीतर तैयार हो जानी चाहिए।

सूखे मिर्च? बगीचे में काफी मात्रा में उगाए जा सकते हैं

1. पूरी तरह से सूखी हुई लाल मिर्च लें और इसे तोड़ कर सारे बीजों को हटा दें (कृपया दस्ताने का उपयोग करें)। पेपर टॉवल पर उन्हें समान रूप से फैलाएं और थोड़ा पानी स्प्रे करें।

2. पेपर टॉवल को आधे से मोड़ें और फिर इसे ऊपर रोल करें। एक रबर बैंड से बांधें। इसे ठंडे, सूखे स्थान पर रखें और हर दिन इस पर पानी का छिड़काव करें। लगभग एक सप्ताह के बाद, वे बुवाई के लिए तैयार हो जाएंगे।

3. अब एक कंटेनर लें जिसमें यह पेपर टॉवल ( खोलने पर ) फिट हो जाए। अब इसमें मिट्टी और खाद मिलाएं। मिट्टी को लगभग 2-3 इंच गहरा और इतना चौड़ा करें ताकि पेपर टॉवल को समायोजित कर सके। अब इसमें टॉवल खोलें ताकि बीज इसमें जाए और इसे मिट्टी के साथ कवर करें। आप सीधे बीज भी लगा सकते हैं।

4. हर दूसरे दिन पानी दें और कंटेनर को एक गर्म स्थान पर रखें जहां उसे लगभग 4-6 घंटे सूरज की रोशनी मिले। 10 वें दिन तक, पत्तियों का पहला सेट दिखाई देगा। लगभग 2 महीनों में, पौधे की ऊंचाई करीब 8-10 इंच बढ़ेगी और फूल लगने शुरू हो जाएंगे। अगले 7-10 दिनों में पहली मिर्च की कली दिखाई देनी चाहिए।

बिना सुगंध वाले पुराने धनिया के बीज? लगाइए अपने बगीचे में

1. एक मुट्ठी जैविक धनिया के बीज लें और उन्हें समान रूप से एक प्लेट पर फैलाएं। बीजों को आधे हिस्सों में तोड़ें।

2. खाद के साथ मिट्टी तैयार करें और उस पर पानी छिड़कें। एक गड्ढा खोदें जो 2 इंच से ज़्यादा गहरी न हो। सीधी लाइनों में बीज बोएं। बीज के बीच 0.5-1 सेंटीमीटर की दूरी रखें।

3. मिट्टी से इसे ढ़कें और हाथों से दबाएं। बीज को बुवाई के ठीक बाद और हर दिन एक बार पानी दें। 7-10 क्या हमें बीएसवी टोकन में निवेश करना चाहिए? दिनों के भीतर, पत्तियां अंकुरित होना शुरू हो जाएंगी। शुरूआत में, पत्ते चमकदार, लंबे और मोटे होंगे। तीसरे सप्ताह तक, आपको एक हल्की खुशबू मिलनी चाहिए। इस समय तक, मोटे पत्ते पतले हो जाएंगे। यह वह समय है जब आप कटाई कर सकते हैं।पुदीना बढ़ाएगा आपके खाने का ज़ायका

How to grow vegetables

1. पुदीना के ऐसे डंठल को क्या हमें बीएसवी टोकन में निवेश करना चाहिए? चुने जिनमें छोटे जड़ उग रहे हों। उन्हें कमरे के तापमान पर पानी से भरे ग्लास में रखें। सुनिश्चित करें कि उन्हें उचित सूरज की रोशनी मिले।

2. पानी को प्रतिदिन बदलें और 7-8 दिनों के लिए दोहराएं।

3. एक उथले बर्तन का चयन करें जो 1-1.5 फीट चौड़ा है (पुदीना बहुत जल्दी फैलता है) और इसमें मिट्टी, कोकोपीट और खाद का मिश्रण मिलाएं। बर्तन को पर्याप्त धूप में रखें।

4. आठवें दिन तक, उपज क्या हमें बीएसवी टोकन में निवेश करना चाहिए? बाहर की ओर होनी चाहिए। प्रत्येक के बीच 15 सेमी की दूरी बनाते हुए इसे गमले में लगाएं।

5. हर दिन पौधों को पानी दें। पत्तियों को छांटे ताकि वे क्षैतिज रूप से फैलें।

6. पुदीने की पत्तियां एक दो हफ्ते में फूलने लगेंगी। सुनिश्चित करें कि आप किसी भी बिंदु पर 1/3 से ज़्यादा पत्तियां ना काटें।

रेटिंग: 4.21
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 258
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *