एक मुद्रा कैरी ट्रेड की मूल बातें

एक खाता खोलना

एक खाता खोलना
  • खाता खोलने के लिए न्यूनतम धनराशि 20 रुपये है
  • व्यक्तिगत / संयुक्त खातों पर 4.0% वार्षिक​ ब्याज मिलता है
  • खाता केवल नकदी के द्वारा खोला जा सकता है
  • गैर-चेक सुविधा वोले खाते में आवश्‍यक न्यूनतम शेष धनराशि 50/- रुपए है​​
  • 500 रुपये के साथ खाता खोलने पर चेक सुविधा उपलब्ध है और इसलिए ऐसे खाते में न्यूनतम शेष धनराशि 500 रुपये का होना आवश्‍यक है
  • किसी मौजूदा खाते में भी चेक सुविधा ली जा एक खाता खोलना सकती है​
  • वित्तीय वर्ष २12-13 से अर्जित ब्याज प्रति वर्ष 10000 रुपये तक कर मुक्त है​
  • नामांकन की सुविधा खाता खोलने के समय तथा खाता खोलने के बाद भी उपलब्ध है
  • यह खाता एक डाकघर से दूसरे डाकघर में एक खाता खोलना स्थानांतरित किया जा सकता है
  • एक डाकघर में एक खाता खोला जा सकता है​
  • किसी नाबालिग व्‍यक्ति के नाम से भी खाता खोला जा सकता है और 10 साल और उससे अधिक आयु के नाबालिग व्‍यक्ति खाता खोल भी सकते हैं और संचालित भी कर सकते हैं
  • संयुक्त खाता दो या तीन वयस्कों द्वारा खोला जा सकता है​
  • खाते को सक्रिय रखने के लिए तीन वित्तीय वर्षों में जमा या निकासी का कम से कम एक लेनदेन आवश्यक एक खाता खोलना है​
  • एकल खाता संयुक्त खाते में और संयुक्त खाता एकल खाते में परिवर्तित किया जा सकता है​
  • बालिग होने के बाद नाबालिग व्‍यक्ति को अपने नाम पर खाते के स्थानांतरण के लिए आवेदन करना पड़ेगा
  • सीबीएस डाकघरों में किसी भी इलेक्ट्रॉनिक मोड के माध्यम से जमा और निकासी की जा सकती है
  • एटीएम की सुविधा भी मिलती है।

बैंक में नया खाता खुलवाने के लिए आवेदन पत्र | Application letter for open new bank account in hindi

application-letter-for-open-new-bank-account-in-hindi

बैंक में नया खाता खुलवाने के लिए आवेदन पत्र (Application letter for open new bank account)

सेवा में ,
शाखा प्रबंधक
बैंक ऑफ इंडिया,
उज्जैन, मध्यप्रदेश

विषय – नया खाता खुलवाने के लिए आवेदन पत्र.

विनम्र निवेदन हैं कि मैं राधा शर्मा आपके एक खाता खोलना बैंक में एक नवीन खाता खोलना चाहती हूं. जिससे मैं बैंक की सुविधाओं का लाभ ले सकूं. मैंने खाता खुलवाने के लिए सभी आवश्यक दस्तावेज फॉर्म के साथ सलग्न कर दिए हैं. अनुरोध है कि आप मेरे आवेदन पर रुचि पूर्वक ध्यान देकर जल्द से जल्द मेरा खाता खोलने में मेरी मदद करेंगे.

अतः आपसे मेरा निवेदन हैं कि खाता खोला जाए. जिसके लिए मैं आपकी सदैव आभारी रहूंगी.

धन्यवाद !
भवदीय
नाम – अपना नाम लिखे.
पता – अपना पता लिखे
मोबाइल नंबर :
हस्ताक्षर : अपनी sign करे.

जानें पोस्ट ऑफिस में खाता खोलने के फायदे, बस रखना होगा इस बात का ध्यान

घर की गुल्लक में पैसे बचाने वालें लोगों के लिए पोस्ट ऑफिस में सेविंग अकाउंट खुलवाने फायदे का सौदा है। यहां सेविंग अकाउंट 20 रुपये में खुल जाता है और एटीएम की सुविधा भी मिलती है। हालांकि, अब.

जानें पोस्ट ऑफिस में खाता खोलने के फायदे, बस रखना होगा इस बात का ध्यान

घर की गुल्लक में पैसे बचाने वालें लोगों के लिए पोस्ट ऑफिस में सेविंग अकाउंट खुलवाने फायदे का सौदा है। यहां सेविंग अकाउंट 20 रुपये में खुल जाता है और एटीएम की सुविधा भी मिलती है। हालांकि, अब पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट में न्यूनतम बैलेंस बनाए रखने से जुड़ा नियम बदल चुका है। पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट में न्यूनतम बैलेंस 500 रुपये बनाए रखना होगा। अगर आप ऐसा नहीं करते तो 100 रुपये रोज का शुल्क काटा जाएगा और शेष राशि जीरो हो जाएगी, तो आपका खाता बंद हो जाएगा। आइए जानते हैं पोस्ट ऑफिस में सेविंग अकाउंट खुलवाने के फायदें और सीमाएं..

पोस्ट ऑफिस ऑफर कर रहा है ये स्कीम

इंडिया पोस्ट कई छोटी बचत योजनाएं ऑफर करती हैं। पोस्ट ऑफिस बैंकों की तुलना में बेहतर ब्याज दरें भी ग्राहकों को ऑफर करता है। पोस्ट ऑफिस की योजनाओं में पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट, पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (PPF), सुकन्या समृद्धि योजना (SSY), नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC), 5 साल के लिए पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट, किसान विकास पत्र (KVP) और सीनियर सिटीजन सेविंग्स आदि शामिल है।

जानें पोस्ट ऑफिस में बचत खाता खोलने के क्या हैं फायदे

  • खाता खोलने के लिए न्यूनतम धनराशि 20 रुपये है
  • व्यक्तिगत / संयुक्त खातों पर 4.0% वार्षिक​ ब्याज मिलता है
  • खाता केवल नकदी के द्वारा खोला एक खाता खोलना जा सकता है
  • गैर-चेक सुविधा वोले खाते में आवश्‍यक न्यूनतम शेष धनराशि 50/- रुपए है​​
  • 500 रुपये के साथ खाता खोलने पर चेक सुविधा उपलब्ध है और इसलिए ऐसे खाते में न्यूनतम शेष धनराशि 500 रुपये का होना आवश्‍यक है
  • किसी मौजूदा खाते में भी चेक सुविधा ली जा सकती है​
  • वित्तीय वर्ष २12-13 से अर्जित ब्याज प्रति वर्ष 10000 रुपये तक कर मुक्त है​
  • नामांकन की सुविधा खाता खोलने के समय तथा खाता खोलने के बाद भी उपलब्ध है
  • यह खाता एक डाकघर से दूसरे डाकघर में स्थानांतरित किया जा सकता है
  • एक डाकघर में एक खाता खोला जा सकता है​
  • किसी नाबालिग व्‍यक्ति के नाम से भी खाता खोला जा सकता है और 10 साल और उससे अधिक आयु के नाबालिग व्‍यक्ति खाता खोल भी सकते हैं और संचालित भी कर सकते हैं
  • संयुक्त खाता दो या तीन वयस्कों द्वारा खोला जा सकता है​
  • खाते को सक्रिय रखने के लिए तीन वित्तीय वर्षों में जमा या निकासी का कम से कम एक लेनदेन आवश्यक है​
  • एकल खाता संयुक्त खाते में और संयुक्त खाता एकल खाते में परिवर्तित किया जा सकता है​
  • बालिग होने के बाद नाबालिग व्‍यक्ति को अपने नाम पर खाते एक खाता खोलना के स्थानांतरण के लिए आवेदन करना पड़ेगा
  • सीबीएस डाकघरों में किसी भी इलेक्ट्रॉनिक मोड के माध्यम से जमा और निकासी की जा सकती है
  • एटीएम की सुविधा भी मिलती है।

Current account new rules : करंट अकाउंट किसे कहते हैं? जानिए एक खाता खोलना नए नियमों का आपके ऊपर क्या होगा असर

टाइम्स नाउ डिजिटल

Current account new rules : करंट अकाउंट खोलने के लिए कुछ सुरक्षा उपाय निर्दिष्ट किए हैं। आप यहां आरबीआई के नए दिशानिर्देशों के बारे में जान सकते हैं।

What is a Current Account, Know what will be effect of the new rules on you

Current account new rules : भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने करंट अकाउंट यानी चालू खाते खोलने के लिए कुछ सुरक्षा उपाय निर्दिष्ट किए हैं ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि उधारकर्ताओं के बीच क्रेडिट अनुशासन है और फंड की कोई री-रूटिंग (डायवर्जन) नहीं हो रही है। अगस्त 2020 में अधिसूचित इन नए नियमों को शुरू में तीन महीने में लागू करना था। हालांकि, बैंकों को इनका अनुपालन करने के लिए और समय की जरुरत महसूस होने के चलते इसकी समय सीमा 31 जुलाई 2021 तक बढ़ा दी गई। अब इसे एक बार और बढ़ाकर 31 अक्टूबर 2021 कर दिया गया है। यहां आप करंट अकाउंट और आरबीआई के नए दिशानिर्देशों के बारे में जान सकते हैं।

करंट अकाउंट किसे कहते हैं?

चालू खाता, जिसे लेनदेन संबंधी खाते (यानी ट्रांजेक्शनल अकाउंट) के रूप में भी जाना जाता है, एक बैंक खाता है जिसमें दैनिक लेनदेन की कोई सीमा निर्दिष्ट नहीं होती है। ये खाते न तो निवेश के उद्देश्य से काम करते हैं, और न ही बचत खाते (सेविंग अकाउंट) की तरह इन खातों में रखी धनराशि पर कोई ब्याज मिलता है। चालू खातों का उपयोग आमतौर पर पेशेवर, छोटे व्यवसाय और उद्यमी करते हैं।

एकल करंट खाता कौन खोल सकता है?

करंट खाता सुविधा आमतौर पर उन लोगों के लिए उपलब्ध है जो किसी न किसी व्यवसाय से जुड़े हैं। इस तरह का खाता खोलने के लिए आपके पास निगमन प्रमाणपत्र (सर्टिफिकेट ऑफ इनकॉर्पोरेशन), फर्म या कंपनी के पते का साक्ष्य और आपका पैन कार्ड जैसे दस्तावेज होने चाहिए। कई बैंक जीएसटी पंजीकरण संख्या पर भी जोर देते हैं। नए नियमों के बाद, वे ग्राहक भी चालू खाता खोल सकते हैं जिन्होंने बैंकिंग प्रणाली से कोई लोन सुविधा नहीं ले रखी है और जिनका बैंकिंग प्रणाली में एक्सपोजर 5 करोड़ रुपए से कम है। हालांकि, ऐसा करते समय बैंक ऐसे ग्राहकों को यह वचनपत्र देने के लिए कह सकते हैं कि यदि उधारकर्ता द्वारा बैंकिंग प्रणाली से लिया जाने वाला क्रेडिट 5 करोड़ रुपए को पार कर जाता है तो वे इस बारे में बैंकों को सूचित करेंगे।

ये नए मानदंड क्यों?

यह देखा गया है कि कई उधारकर्ता, जिन्हें बैंकों ने नकदी ऋण (सीसी) या ओवरड्राफ्ट (ओडी) सुविधाओं के जरिए पैसा उधार दिया था, उधार ली गई धनराशि को अन्य बैंकों में मौजूद अपने चालू खातों में ट्रांसफर कर रहे थे। यह बैंकिंग नियामक के नजरिए से उचित तरीका नहीं था। आरबीआई ने मानदंडों को इसलिए सख्त बनाया है ताकि उधारदाता संघ (यानी कन्सोर्टियम ऑफ लेंडर्स) से बाहर जाकर उधार लेने वालों द्वारा नए चालू खाते खोलने की इस प्रथा पर अंकुश लगाया जा सके, विशेष रूप से जब अंडर स्ट्रेस होते हैं और एक बैंक से दूसरे बैंक में फंड डायवर्ट करते हैं। अपने परिपत्र में आरबीआई ने कहा है कि "कोई भी बैंक उन ग्राहकों के लिए चालू खाता नहीं खोलेगा, जिन्होंने बैंकिंग प्रणाली से नकदी ऋण (सीसी) / ओवरड्राफ्ट (ओडी) के रूप में क्रेडिट सुविधा प्राप्त की है और सभी लेनदेन सीसी/ ओडी खाते के जरिए किए जाएंगे।

इससे कौन से चालू खाते होंगे?

इसका असर उन उधारकर्ताओं के चालू खातों पर पड़ेगा, जिन्होंने दूसरे बैंकों से सीसी/ओडी की सुविधा ले रखी है। बैंक इस बारे में आपको सूचित करने के लिए नोटिस भेजेगा। इसके अलावा, यदि आपने सीसी/ओडी सुविधाओं का लाभ उठाया है और उन फंड को अपने चालू खाते में ट्रांसफर कर दिया है तो आपका खाता प्रभावित होगा। यदि आपके पास पहले से एक चालू खाता है और आपने कोई सीसी/ओडी सुविधा नहीं ली है तो आपका खाता बंद नहीं होगा।

यदि खाता बंद हो जाता है तो उसमें रखे पैसे का क्या होगा?

अधिकांश बैंकों ने उन चालू खातों को फ्रीज कर दिया है जो नए दिशानिर्देशों का पालन नहीं करते थे। आपसी समाधान की दृष्टि से बैंक इन खातों को ग्राहकों के लिए फिर से खोल और चालू कर सकते हैं। बंद खातों के मामले में, उन्हें फिर से नहीं खोला जा सकता है लेकिन ग्राहक इसमें रखी हुई रकम निकाल सकते हैं।

यदि चालू खाते को फ्रीज या बंद कर दिया गया है, तो खाते में मौजूद धनराशि उधारकर्ता के बचत या सीसी/ओडी खाते में ट्रांसफर की जा सकती है। आपको उस शाखा में जाना होगा जहां आपका खाता है, और फिर आवेदन पत्र भरकर पैसा ट्रांसफर करने के लिए बैंक से अनुरोध करें। बैंक या तो उक्त खाते में आरटीजीएस एक खाता खोलना कर सकता है या फर्म के नाम पर डिमांड ड्राफ्ट प्रदान कर सकता है, या उस राशि को आपके सीसी/ओडी खातों में ट्रांसफर कर सकता है। कुछ मामलों में, यदि चालू खाते में राशि बहुत कम है तो आप इसे नकद में भी प्राप्त कर सकते हैं (हालांकि, यह बैंक पर और बैंक के साथ आपके संबंधों पर निर्भर करता है)। प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए जरूरी है कि आप सत्यापन के लिए अपना केवाईसी विवरण तैयार रखें।

नए नियमों में 10% ऋण एक्सपोजर की आवश्यकता का क्या अर्थ है?

इसका यह अर्थ है कि बैंकिंग प्रणाली में ग्राहक के कुल ऋण एक्सपोजर में से, यदि किसी उधारदाता के प्रति एक्सपोजर 10% या उससे अधिक है, तो डेबिट सुविधा उस विशेष बैंक के साथ खोले गए सीसी/ओडी खाते में उपलब्ध होगी। उदाहरण के लिए, यदि आपने विभिन्न उधारदाताओं से 5 करोड़ रुपए का ऋण लिया है। मान लीजिए कि इसमें से केवल एक उधारदाता 'क' ने आपको 50 लाख रुपए (कुल ऋण का 10%) या अधिक राशि का ऋण दिया है, तो आप उधारदाता 'क' के साथ खोले गए सीसी/ओडी खाते से ही डेबिट सुविधा प्राप्त कर सकते हैं।

यदि उस उधारकर्ता के बैंकिंग प्रणाली एक खाता खोलना के प्रति एक्सपोजर के 10% या अधिक वाले बैंक एक से ज्यादा हैं, तो जिस बैंक को निधि विप्रेषित की जानी है, वह उधारकर्ता और बैंकों के बीच निर्धारित किया जा सकता है। इसके अलावा, यह उल्लेखनीय है कि जहां एक उधारकर्ता के प्रति किसी बैंक का एक्सपोजर (उस उधारकर्ता के प्रति) बैंकिंग प्रणाली के एक्सपोजर के 10% से कम है, वहाँ सीसी/ओडी खाते में क्रेडिट की तो पूरी अनुमति होगी, किंतु इस सीसी/ओडी खाते में डेबिट केवल उधारकर्ता के उस बैंक के सीसी/ओडी खाते में क्रेडिट के लिए किया जाएगा, जिसका उधारकर्ता के प्रति एक्सपोजर उस उधारकर्ता के प्रति एक्सपोजर का 10% या इससे अधिक है।

निष्कर्ष

31 जुलाई तक ऐसे ज्यादातर चालू खाते फ्रीज कर दिए गए थे लेकिन बंद नहीं किए गए थे। समय सीमा बढ़ाने के बाद, बैंक अब नई व्यवस्था के लिए अपने ग्राहकों से माइग्रेशन पथ के बारे में बात करेंगे। अधिकांश बैंक अपने ग्राहकों के साथ बात कर इन मुद्दों को पारस्परिक रूप से हल करने का प्रयास करेंगे। जिन खातों को फ्रीज कर दिया गया है, उन्हें अब फिर से खोला और चालू किया जा सकता है क्योंकि आरबीआई ने (इन नियमों को) लागू करने की तिथि बढ़ा दी है।

खुशखबरी: बिना आईडी प्रूफ के भी खुलेगा बैंक खाता

open bank account without ID card.

आरबीआई ने यह भी कहा है कि बिना सरकारी दस्तावेज के खुलने वाले खाते 12 महीने तक वैध रहेंगे। इस अवधि में खाताधारक को पहचान के सरकारी दस्तावेज पेश करने होंगे। उसके बाद दस्तावेज न होने पर खाते को बंद कर दिया जाएगा।

ऐसे लोग जिनके पास आईडी प्रूफ है, लेकिन जहां वह रहते हैं, उसका प्रमाण पत्र नहीं है, तो वह लोग अपने गांव या जहां का उनके पास स्थायी निवास पत्र है, उसके जरिए भी अपना बैंक खाता खुलवा सकेंगे।

इसी तरह खाता ट्रांसफर करने के लिए अलग से केवाईसी की जरूरत नहीं रहेगी।

चालू वित्तीय वर्ष में योजना के पहले चरण में 7.5 करोड़ बैंक खाता खोलने का लक्ष्य है। योजना का दूसरा चरण 15 अगस्त 2015 से 15 अगस्त 2018 तक चलेगा।

इसमें माइक्रो इंश्योरेंस के अलावा स्वालंबन योजना को भी शुरू किया जाना है। इसमें क्रेडिट गारंटी फंड से लोगों को जरूरी आर्थिक मदद उपलब्ध कराई जाएगी।

खाता खुलवाने पर मिलेंगी ये सुविधाएं
- जीरो बैलेंस एकाउंट
- पैसों की सुरक्षा के साथ बेहतर ब्याज
- डेबिट कार्ड, एटीएम सुविधा
- दो लाख का दुर्घटना बीमा
- सरकारी योजनाओं का पैसा सीधे बैंक खाते में
- छह महीने बाद 5,000 रुपये तक की ओवरड्राफ्ट सुविधा

प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत पहले दिन लखनऊ में एक लाख तो पूरे प्रदेश में 15-16 लाख खाते खोले जाएंगे। इसकी तैयारी के लिए 25 अगस्त से शिविर का आयोजन शुरू कर दिया गया था।

बृस्पतिवार सवेरे 9 बजे से शाम पांच बजे तक विभिन्न बैंक शाखाओं में खाता खोलने केलिए 715 शिविर लगाए जाएंगे। अभियान से जुड़े बैंक अधिकारियों के मुताबिक, योजना में सरकार की कोशिश है कि हर घर में कम से कम दो बैंक खाते हों।

पहले यह मानक एक बैंक खाता-एक परिवार था। स्टेट लेवल बैंकिंग कमेटी (एसएलबीसी) की भूमिका में बैंक ऑफ बडौदा को ही इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है।

बैंक ऑफ बडौदा के अलावा एसबीआई, इलाहाबाद बैंक, पीएनबी जैसी दूसरी संस्थाएं भी इससे जुड़ी हैं। प्रधानमंत्री जन धन योजना में एचडीएफसी बैंक भी ग्राहकों का जीरो बैलेंस पर खाता खोल रही है।

अगर आपके पास किसी भी तरह का कोई सरकारी दस्तावेज पहचान (आईडी) के लिए नहीं है, तो भी आपका बैंक खाता खोला जा सकता है।

मोदी सरकार की ओर से बृहस्पतिवार से शुरू हो रहे देश के 7.5 करोड़ लोगों के बैंक खाता खोलने के अभियान को जोर देने के लिए रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने यह पहल की है।

आरबीआई की इस पहल के तहत कोई भी व्यक्ति बैंक जाकर अपना स्व हस्ताक्षरित फोटो और बैंक अधिकारी के सामने हस्ताक्षर या अंगूठा लगाकर अपना खाता खुलवा सकता है।

हालांकि, खाते को चालू रखने के लिए खाताधारक को एक साल के अंदर अपनी पहचान के लिए सरकारी दस्तावेज पेश करना होगा। यदि वह ऐसा नहीं करता है, तो उसका खाता बंद किया जा सकेगा।

ये होगा आपका 'छोटा खाता'

open bank account without ID card.2

आरबीआई की यह पहल खासतौर से असंगठित क्षेत्र के लोगों को बैंकिंग सेवाओं से जोड़ने में मदद करेगी।

अभी भी देश के एक बड़े हिस्से के पास आधार कार्ड, पासपोर्ट, पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, लाइसेंस, निवास स्थान प्रमाण पत्र आदि नहीं हैं जो कि बैंक खाता खोलने में जरूरी होता है।

रिजर्व बैंक ने बिना सरकारी दस्तावेज से खुलने वाले खातों पर कुछ सीमाएं भी लगाई हैं। इन खातों को ‘छोटा खाता’ कहा जाएगा।

इसके अलावा इन खातों के आधार पर साल में एक लाख रुपये से ज्यादा का कर्ज नहीं दिया जा सकेगा। इसी तरह महीने में 10 हजार रुपये से ज्यादा की राशि नहीं निकाली जा सकेगी।

साथ ही किसी भी समय खाते में 50 हजार रुपये से ज्यादा की राशि नहीं रखी जा सकती है।

स्थायी निवास प्रमाण पत्र होना जरूरी नहीं

open bank account without ID card.3

आरबीआई ने यह भी कहा है कि बिना सरकारी दस्तावेज के खुलने वाले खाते 12 महीने तक वैध रहेंगे। इस अवधि में खाताधारक को पहचान के सरकारी दस्तावेज पेश करने होंगे। उसके बाद दस्तावेज न होने पर खाते को बंद कर दिया जाएगा।

ऐसे लोग जिनके पास आईडी प्रूफ है, लेकिन जहां वह रहते हैं, उसका प्रमाण पत्र नहीं है, तो वह लोग अपने गांव या जहां का उनके पास स्थायी निवास पत्र है, उसके जरिए भी अपना बैंक खाता खुलवा सकेंगे।

इसी तरह खाता ट्रांसफर करने के लिए अलग से केवाईसी की जरूरत नहीं रहेगी।

दूसरे चरण में आएगी आत्मनिर्भरता

open bank account without ID card.4

चालू वित्तीय वर्ष में योजना के पहले चरण में 7.5 करोड़ बैंक खाता खोलने का लक्ष्य है। योजना का दूसरा चरण 15 अगस्त 2015 से 15 अगस्त 2018 तक चलेगा।

इसमें माइक्रो इंश्योरेंस के अलावा स्वालंबन योजना को भी शुरू किया जाना है। इसमें क्रेडिट गारंटी फंड से लोगों को जरूरी आर्थिक मदद उपलब्ध कराई जाएगी।

खाता खुलवाने पर मिलेंगी ये सुविधाएं
- जीरो बैलेंस एकाउंट
- पैसों की सुरक्षा के साथ बेहतर ब्याज
- डेबिट कार्ड, एटीएम सुविधा
- दो लाख का दुर्घटना बीमा
- सरकारी योजनाओं का पैसा सीधे बैंक खाते में
- एक खाता खोलना छह महीने बाद 5,000 रुपये तक की ओवरड्राफ्ट सुविधा

लखनऊ में पहले खुलेंगे एक लाख खाते

open bank account without ID card.5

प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत पहले दिन लखनऊ में एक लाख तो पूरे प्रदेश में 15-16 लाख खाते खोले जाएंगे। इसकी तैयारी के लिए 25 अगस्त से शिविर का आयोजन शुरू कर दिया गया था।

बृस्पतिवार सवेरे 9 बजे से शाम पांच बजे तक विभिन्न बैंक शाखाओं में खाता खोलने केलिए 715 शिविर लगाए जाएंगे। अभियान से जुड़े बैंक अधिकारियों के मुताबिक, योजना में सरकार की कोशिश है कि हर घर में कम से कम दो बैंक खाते हों।

पहले यह मानक एक बैंक खाता-एक परिवार था। स्टेट लेवल बैंकिंग कमेटी (एसएलबीसी) की भूमिका में बैंक ऑफ बडौदा को ही इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है।

बैंक ऑफ बडौदा के अलावा एसबीआई, इलाहाबाद बैंक, पीएनबी जैसी दूसरी संस्थाएं भी इससे जुड़ी हैं। प्रधानमंत्री जन धन योजना में एचडीएफसी बैंक भी ग्राहकों का जीरो बैलेंस पर खाता खोल रही है।

स्टेट बैंक में खाता कितने से खुलता है? 2022 में खाता खोलना है ये हैं मेन स्टेप्स

देश के किसी भी कौने में जाओ तो हमे लगभग हर जगह भारतीय स्टेट बैंक की शाखा मिल जाती हैं। शाखा के दृष्टिकोण से SBI Bank भारत की सबसे बड़ी सरकारी बैंक हैं। भारतीय स्टेट बैंक में खाता खोलना वर्तमान समय में काफी आसान हैं। अगर आप नहीं जानते हैं कि स्टेट बैंक में खाता कितने से खुलता है या कैसे खुलता है तो हमारे इस लेख एक खाता खोलना पूरा पढ़ें –

स्टेट बैंक में खाता कितने से खुलता है 2022 –

अगर आप प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत स्टेट बैंक में खाता खुलवाते हैं तो ये जीरो बैलेंस से भी खुल सकता है। हालाँकि स्टेट बैंक के रेगुलर सेविंग अकाउंट को खुलवाने के लिए मिनिमम 1000 रुपये बैलेंस तुरंत जमा करना रहता है।

SBI में खाता कैसे खोले?

स्टेट बैंक में खाता कितने से खुलता है

स्टेट बैंक में खाता खोलने के दो तरीके हैं। इन तरीकों में एक ऑनलाइन प्रोसेस हैं और एक ऑफलाइन प्रोसेस हैं। इस बैंक में Account Open करने के लिए आप इन आसान प्रोसेस को फॉलो कर सकते हैं। स्टेट बैंक में आप बचत खाता, चालू खाता, लोन खाता, डीमेट खाता इतियादी खोल सकते हैं। यह सभी खाते आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों मोड़ में खोल सकते हैं। खाता खोलने के लिए कुछ जरुरी दस्तावेजों की भी जरूरत होती हैं।

जरुरी दस्तावेज

खाता खोलने के लिए इन सब दस्तावेजों की जरूरत रहती है। बिना इन दस्तावेजों के आप खाता नहीं खोल सकते है। जरूरी दस्तावेजों की सूची –

  • खाता खोलने वाले का एक आईडी प्रूफ।
  • जिस व्यक्ति का खाता खोला जाना हैं उसका नया खींचा हुआ फोटो और उसके हस्ताक्षर।
  • खाता खोलने वाले व्यक्ति के पते का प्रमाण।
  • आवेदन का पेन कार्ड और आधार कार्ड।

ऐसे करें ऑनलाइन अप्लाई –

  • सबसे पहले आपको SBI की इस आधिकारिक वेबसाइट पर आना होता हैं।
  • इसके बाद आपको इसमें किस प्रकार का खाता खोलना हैं उसका चुनाव करना हैं जैसे बचत खाता, चालू खाता इतियादी।
  • उसके बाद आपको इस जो अकाउंट खोलना हैं उसके साथ ही Apply Now का आप्शन दिखाई देगा जिस पर क्लिक करेंगे तो आप एक नए पेज पर चले जायेंगे।
  • इस पेज पर आने के बाद आपको SBI की एप्लीकेशन का लिंक मिलेगा जिसकी मदद से आपको उस एप्लीकेशन को डाउनलोड और इनस्टॉल करना होता हैं।
  • उसके बाद उसमे आपसे जो भी जानकारी मांगी जाती हैं उसको भरना होता एक खाता खोलना हैं जैसे आपका नाम, पिता का नाम , पता, जन्म तारीख इतियादी।
  • उसके बाद इसमें आपसे कुछ दस्तावेज मांगे जाते हैं जिन्हें आपको अपलोड करना होता हैं। उसके बाद सबमिट करते ही आपकी जानकारी आपके नजदीकी शाखा में चली जाती हैं।

बैंक में किस प्रकार के खाते खोल सकते हैं?

  • बचत खाता – स्टेट बैंक में ग्राहकों की सबसे पहली पसंद होती हैं बचत खाता खोलने की यानी Saving Account खोलने की। इस खाते को खोलने के लिए कम से कम 500 रूपये रखने होते हैं।
  • चालु खाता – अगर आप कोई बिज़नस करते हैं और दिन और महीने में अनगिनत Transactions होते हैं तो उसके लिए आप इस खाते को खुलवा सकते हैं। इस खाते में पैसे रखने और भेजने की कोई लिमिट नही हैं। इस खाता को मुख्य रूप से बिज़नस से जुड़े लोग खुलवाते है।
  • सैलरी खाता – नौकरी पेशा वालों के लिए भी यह बैंक काफी अच्छी सुविधा देती हैं। नौकरी पैसा व्यक्तियों के लिए इस बैंक और इस प्रकार के खाते में कई प्रकार की सुविधा दी जाती हैं जिसमें कई तरह को लोन भी आसानी से मिल जाते हैं।
  • लोन खाता – अगर आप भारतीय स्टेट बैंक से किसी भी प्रकार का लोन लेते हैं तो उस स्तिथि में आपका इस बैंक में एक लोन खाता खुलता हैं और लोन से सम्बंधित पूरी जानकारी और Transactions इसी बैंक खाते में रहती हैं। यह खाता Temporary होता हैं यानी जब तक आपका लोन चल रहा हैं तब तक यह खाता चल रहा हैं उसके बाद बंद हो जाएगा।
  • Demat account – अगर आप शेयर बाज़ार में निवेश करते हैं तो आपको सबसे पहले एक Demat Account खोलने की जरूरत रहती है। इस प्रकार के खाते भी भारतीय स्टेट बैंक में खोल सकते हैं। यह खाता केवल ऑफलाइन ही खुलता हैं।
  • FD / RD Account – यह अकाउंट तब खोला जाता हैं जब आप अपने पैसे निवेश करना चाहते हो। यह खाता ऑनलाइन मुश्किल से खुलता हैं, इसके लिए आपको एक बार बैंक में जाना ही होता हैं।

SBI Offline Account Opening

SBI का ऑफलाइन खाता खोलने के लिए आपको अपने सभी जरुरी दस्तावेजों की फोटोकॉपी करवा कर खाता खोलने के फॉर्म को भर कर उसके साथ उन सभी दस्तावेजों को लगवाना होता हैं। उसके बाद उस फॉर्म और दस्तावेज को लेकर बैंक में जाना होता हैं।

बैंक में आपके सभी दस्तावेजों और फॉर्म की जांच होती हैं और उसके बाद फॉर्म को बैंक दुवारा ऑनलाइन भरा जाता हैं। फॉर्म सबमिट करने के 2 दिन बाद आपका खाता खुल जाता हैं और आपको बैंक खाते की डिटेल दे दी जाती हैं।

CSC के माध्यम से खोले खाता

ऑफलाइन के माध्यम से बैंक के अलावा CSC के माध्यम से खाते भी खोला जा सकता हैं। इसके लिए आपको अपने दस्तावेज लेकर और खाता खोलने के लिए फॉर्म भर के CSC पर जा सकते हैं। वहा आपका आधार कार्ड के माध्यम से ऑनलाइन खाता खोला जाता हैं तो इस बात का ख्याल करे की आप जब भी CSC जाए तो अपना आधार कार्ड हमेशा अपने साथ रखे।

SBI में खाता खोलने के लिए चार्ज

खाते में कम से कम कितना पैसा रखना जरुरी हैं यह इस बात पर निर्भर करता हैं की आप किस प्रकार का खाता खुलवाते हैं। खता 0 बैलेंस वाला भी खुलता हैं और 500 और 2000 वाला भी, यह आपके खाते पर निर्भर करता हैं।

रेटिंग: 4.70
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 90
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *