एक मुद्रा कैरी ट्रेड की मूल बातें

उड़ान व्यापार एक साधारण रणनीति है

उड़ान व्यापार एक साधारण रणनीति है
नई दिल्ली, 6 जुलाई (आईएएनएस)। पूर्व रक्षा मंत्री ए.के. एंटनी ने सोमवार को कहा कि सरकार के पास राफेल सौदे में संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से जांच कराने का आदेश देने के अलावा कोई विकल्प नहीं है, उड़ान व्यापार एक साधारण रणनीति है क्योंकि फ्रांसीसी लोक अभियोजन सेवा ने राफेल सौदे में भ्रष्टाचार, प्रभाव पैडलिंग और खुले तौर पर पक्षपात की जांच के लिए एक न्यायाधीश नियुक्त किया है।

445+ Business Man Motivational Shayari Status Quotes Hindi

Businessman Shayari In Hindi: तो दोस्तों आज मैं आप लोगों के साथ शेयर करने वाला हूं बिजनेसमैन या फिर यूं कहे बिजनेस से जुड़ी शायरी स्टेटस कोट्स एसएमएस आदि का संपूर्ण कलेक्शन जो कि आप लोगों को काफी पसंद आएगा।

बिजनेसमैन कोट्स मतलब की एक बिजनेसमैन इंसान या आदमी के लाइफ में क्या-क्या होता है या नहीं होता है।अपनी टीम को किस तरह से गाइड करना है बिजनेस को कैसे ग्रो करना है किस टाइम लॉस होता है।
या फिर आप एक सक्सेसफुल बिजनेसमैन क्यों नहीं बन सकते हो या फिर आप सक्सेसफुल बिजनेसमैन कैसे बने हैं ।

और बिजनेसमैन से जुड़ी बहुत सारी शायरियां स्टेटस कोट्स आदि का यहां पर हमने कलेक्शन दिया है।
वह आप लोगों को काफी पसंद आएगा यहां आने के बाद आप लोग को किसी दूसरे ब्लॉग या फिर साइट पर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी ।

आपको यहां पर हमारे से जितना हो सके उतने हमने कोट्स शायरी एसएमएस स्टेटस आदि का कलेक्शन प्रोवाइड करने की कोशिश करी है आप नीचे जाकर पढ़ सकते हो इन सारे कलेक्शन को।

उड़ान व्यापार एक साधारण रणनीति है

बुक्स ऑफ ओरिजिनल एंट्री का क्या अर्थ है?

बुक्स ऑफ ओरिजिनल एंट्…

बिज़नेस में इन्वेंट्री नियंत्रण या स्टॉक कंट्रोल के क्‍या मायने हैं?

अर्जित व्यय या Accrued Expenses के बारे में विस्‍तार से जानें

लेखांकन देयताएं या अकाउंटिंग लायबिलिटीज़ क्या हैं?

खराब लोन ख़र्च: परिभाषा, उदाहरण और अकाउंटिंग ट्रीटमेंट

गतिविधि-आधारित लागत: परिभाषा प्रक्रिया और उदाहरण

प्राप्य या रिसीवेबल बिल्‍स क्‍या हैं? विस्‍तार से जानें

प्राप्य या रिसीवेबल बिल्‍स क्‍या हैं? विस्‍तार से जानें

मटेरियल बिल: परिभाषा, उदाहरण, प्रारूप और प्रकार

Petty कैश (फुटकर रोकड़ राशि) क्‍या है और यह कैसे काम करता है?

अकाउंटिंग अनुपात - अर्थ, प्रकार, सूत्र

बुक्स ऑफ ओरिजिनल एंट्री का क्या अर्थ है?

बिज़नेस में इन्वेंट्री नियंत्रण या स्टॉक कंट्रोल के क्‍या मायने है…

अर्जित व्यय या Accrued Expenses के बारे में विस्‍तार से जानें

लेखांकन देयताएं या अकाउंटिंग लायबिलिटीज़ क्या हैं?

खराब लोन ख़र्च: परिभाषा, उदाहरण और अकाउंटिंग ट्रीटमेंट

गतिविधि-आधारित लागत: परिभाषा प्रक्रिया और उदाहरण

प्राप्य या रिसीवेबल बिल्‍स क्‍या हैं? विस्‍तार से जानें

मटेरियल बिल: परिभाषा, उदाहरण, प्रारूप और प्रकार

Petty कैश (फुटकर रोकड़ राशि) क्‍या है और यह कैसे काम करता है?

अकाउंटिंग अनुपात - अर्थ, प्रकार, सूत्र

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की उड़ान व्यापार एक साधारण रणनीति है जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

We'd love to उड़ान व्यापार एक साधारण रणनीति है hear from you

We are always available to address the needs of our users.
+91-9606800800

उड़ान व्यापार एक साधारण रणनीति है

Hit enter to search or ESC to close

राफेल सौदे की जेपीसी जांच के अलावा सरकार के पास विकल्प नहीं : एंटनी

राफेल सौदे की जेपीसी जांच के अलावा सरकार के पास विकल्प नहीं : एंटनी

नई दिल्ली, 6 जुलाई (आईएएनएस)। पूर्व रक्षा मंत्री ए.के. एंटनी ने सोमवार को कहा कि सरकार के पास राफेल सौदे में संयुक्त उड़ान व्यापार एक साधारण रणनीति है संसदीय समिति (जेपीसी) से जांच कराने का आदेश देने के अलावा कोई विकल्प नहीं है, क्योंकि फ्रांसीसी लोक अभियोजन सेवा ने राफेल सौदे में भ्रष्टाचार, प्रभाव पैडलिंग और खुले तौर पर पक्षपात की जांच के लिए एक न्यायाधीश नियुक्त किया है।

एंटनी ने एक बयान में कहा, राफेल सौदे में प्रथम दृष्टया भ्रष्टाचार अब स्पष्ट हो गया है। मोदी सरकार की पेचीदा चुप्पी भ्रष्टाचार को शांत करने के इरादे की ओर इशारा करती है। जांच और दोषियों को दंडित करने से इनकार करना, घोटाले को दबाने के लिए भाजपा सरकार के एक ठोस प्रयास की ओर इशारा करता है।

उन्होंने कहा, आगे बढ़ने का एकमात्र तरीका जवाबदेही स्वीकार करना और राफेल सौदे में भ्रष्टाचार के सभी तथ्यों, सबूतों और आरोपों की स्वतंत्र और निष्पक्ष जेपीसी जांच का आदेश देना है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 10 अप्रैल, 2015 को पेरिस गए थे और एकतरफा रूप से बिना किसी निविदा प्रक्रिया के 36 राफेल विमानों की खरीद की घोषणा की थी, जो रक्षा खरीद प्रक्रिया का पूर्ण रूप से अपमान है। इस एकतरफा आदेश से हर रक्षा विशेषज्ञ हैरान रह गया, जो कि भारत का सबसे बड़ा रक्षा सौदा है।

एंटनी ने कहा कि यह और भी आश्चर्यजनक है, क्योंकि एक अंतर्राष्ट्रीय निविदा के अनुसरण में 126 राफेल विमानों की खरीद के लिए बातचीत चल रही थी, जिसमें हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड द्वारा भारत में बनाए जाने वाले 108 विमान और उड़ान भरने की स्थिति में 18 विमान खरीदे जाने की परिकल्पना की गई थी।

उन्होंने आगे कहा, 126 विमानों के लिए इस अंतर्राष्ट्रीय निविदा में भारत को सभी महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकी हस्तांतरण की भी परिकल्पना की गई थी। आज तक, न तो प्रधानमंत्री और न ही भाजपा सरकार ने विमानों की संख्या को 126 से घटाकर 36 करने का कारण स्पष्ट किया है या भारत में प्रौद्योगिकी के हस्तांतरण का त्याग करने का कारण बताया है। भाजपा सरकार ने 36 विमानों की कीमत बढ़ाने या सरकार के सार्वजनिक उपक्रम, हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड को ऑफसेट अनुबंध से इनकार करने का आधार या कारण भी नहीं बताया है।

एंटनी ने कहा, भाजपा सरकार ने इस तथ्य का कारण भी नहीं बताया है कि जब रक्षा अधिग्रहण परिषद से मंजूरी दी गई थी और एक निविदा चल रही थी, जिसके लिए बातचीत को अंतिम रूप उड़ान व्यापार एक साधारण रणनीति है दिया जा रहा था, तो प्रधानमंत्री और सरकार एकतरफा समझौता कर सकते सकते थे?

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये यहां क्लिक करें।

यदि आप असफल होते हैं, तो कभी हार न मानें क्योंकि FAIL का अर्थ है ‘First Attempt in Learning’: डॉ. कलाम

दिल्लीः आज 15 अक्टूबर यानी भारत रत्न एवं देश के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की जयंती है। 15 अक्टूबर 1931 को उस समय की मद्रास प्रेसिडेंसी (आज का तमिलनाडु) में रामेश्वरम तीर्थस्थल के करीब उड़ान व्यापार एक साधारण रणनीति है पंबन द्वीप पर एक गरीब तमिल मुस्लिम परिवार में जन्मे डॉ. कलाम के पिता नाव चलाते थे। डॉ. कलाम का पूरा नाम अबुल पकिर जैनुलाब्दीन अब्दुल कलाम था। उन्होंने सतत मेहनत और फोकस से शत्रु को भयभीत करने वाली मिसाइलें बना दीं और भारत के राष्ट्रपति पद को भी सुशोभित किया। तो चलिए आज हम आपको डॉ. कलाम के बारे में कुछ अहम जानकारियां आपको देते हैः

यदि आप असफल होते हैं, तो कभी हार न मानें क्योंकि FAIL का अर्थ है ‘First Attempt in Learning’- ए.पी.जे. अब्दुल कलाम

परिचय: डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम एक भारतीय एयरोस्पेस साइंटिस्ट और जुलाई 2002 से जुलाई 2007 तक भारत के राष्ट्रपति रहे थे। उनका जन्म 15 अक्टूबर 1931 को उस समय की उड़ान व्यापार एक साधारण रणनीति है मद्रास प्रेसिडेंसी (आज का तमिलनाडु) में रामेश्वरम तीर्थस्थल के करीब पंबन द्वीप पर एक तमिल मुस्लिम परिवार में हुआ था। उनके पिता जैनुलाब्दीन मरकयार एक नाव के मालिक और स्थानीय मस्जिद के इमाम भी थे। उनकी मां आशिअम्मा एक गृहिणी थीं। उनके पिता अपनी नाव पर तीर्थयात्रियों को रामेश्वरम और अब निर्जन धनुषकोडी के बीच लाने ले जाने का कार्य करते थे। स्कूल के वर्षों में, कलाम के ग्रेड औसत थे, लेकिन उन्हें एक बुद्धिमान और मेहनती छात्र के रूप में वर्णित किया गया था, जिसमें सीखने की तीव्र इच्छा थी। उन्होंने अपनी पढ़ाई पर विशेकर गणित पर घंटों बिताए।

सबक – बेहद छोटे स्तर से शुरू करने के बावजूद भी वे चलते रहे, चलते रहे और सब बड़ी ऊंचाइयों को छुआ।

मिसाइल मैन: उन्होंने अपने जीवन के चार दशक एक साइंटिस्ट और साइंस एडमिनिस्ट्रेटर के रूप में मुख्य रूप से रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) में बिताए। उन्हें बैलिस्टिक मिसाइल और प्रक्षेपण यान टेक्नोलॉजी के विकास पर उनके काम के लिए भारत के ‘मिसाइल मैन’ के रूप में जाना जाने लगा। उन्होंने 1998 में भारत के पोखरण-द्वितीय परमाणु परीक्षणों में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जो भारत द्वारा 1974 में किए गए मूल परमाणु परीक्षण के बाद पहला था। वे अंतरिक्ष अनुसंधान के लिए भारतीय राष्ट्रीय समिति (INCOSPAR) का भी हिस्सा थे, इसे डॉ विक्रम साराभाई द्वारा स्थापित किया गया था।

उपलब्धियां- उन्होंने एकीकृत निर्देशित मिसाइल विकास कार्यक्रम (IGMDP) के तहत, अग्नि और पृथ्वी जैसी मिसाइलों को विकसित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

शानदार विचारक और लेखक: भारत के पहले और अभी तक के एकमात्र साइंटिस्ट राष्ट्रपति डॉ. कलाम ने न केवल विज्ञान में योगदान दिया बल्कि भारत के 11वें राष्ट्रपति के रूप में भी कार्य किया और उन्हें व्यापक रूप से ‘पीपुल्स प्रेसिडेंट’ माना जाता था। वे अक्सर बच्चों और देश के युवाओं से बात करते थे, उन्होंने कई किताबें भी लिखीं, इनमें (1) इंडिया 2020: ए विजन फॉर द न्यू मिलेनियम, (उड़ान व्यापार एक साधारण रणनीति है 2) विंग्स ऑफ फायर – एन ऑटोबायोग्राफी, (3) इग्नाइटेड माइंड्स – अनलीशिंग द पॉवर वीदिन इंडिया आदि प्रमुख हैं।

डॉ. कलाम के जीवन के सबकः

कभी हार न मानें: जब जीवन में असफलताओं का सामना करना पड़ता है, तो कलाम हार न मानने की सलाह देते हैं, बल्कि इस विफलता को सफलता में बदलने के लिए और भी अधिक मेहनत करने की सलाह देते हैं। उनका मानना है कि असफलता और सफलता साथ-साथ चलती है। असफलताओं का सामना किए बिना व्यक्ति सफलता प्राप्त नहीं कर सकता। उनके द्वारा विकसित अग्नि मिसाइल को सफलता से पहले कई बार असफलता का सामना करना पड़ा लेकिन वे डटे रहे।

एक विजन रखें: एक सफल जीवन जीने के लिए विजन और रणनीति दोनों महत्वपूर्ण हैं। यदि आपके मन में स्पष्ट दृष्टि है, तो आप अंततः सही रणनीति अपनाएंगे। उनका पूरा जीवन ही इसका उदहारण है। अपने करिअर के शुरुआती दिनों में कलाम एयरफोर्स पायलट बनना चाहते थे, लेकिन जब वहां उनका सिलेक्शन नहीं हुआ तो वे थोड़े निराश तो हुए लेकिन फिर उन्होंने, डीआरडीओ और इसरो में सफल करिअर बनाया।

इनोवेटिव बनें: कलाम ने व्यक्तियों को रचनात्मक (क्रिएटिव) रूप से सोचने और उन तकनीकों की पहचान करने के लिए प्रोत्साहित किया जो बाकी से अलग हो सकती हैं। उन्होंने सभी को एक ऐसा रास्ता चुनने का साहस करने के लिए प्रेरित किया जो कई लोगों के लिए अज्ञात है और नवीन विचारों के साथ समस्याओं को हल करता है।

सिम्पलिसिटी: कलाम अपने जीवन में एकदम सिंपल थे। आखिरी तक उनका फेवरेट नाश्ता दही-इडली रहा। इतने बड़े साइंटिस्ट होने के बावजूद जीवन में काफी लम्बे समय तक वे पैरों में सादी चप्पलों के साथ पैंट के ऊपर बाहर निकली हुई साधारण कमीज पहनते रहे। जब उन्हें पहली बार काम के सिलसिले में उस समय की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से मिलने जाना पड़ा तो जूते पहनने का ख्याल आया। बड़े होने का मतलब सरल होना है।

कभी न रुकना: इसके अलावा कलाम से बहादुर, बड़े सपने देखने, समर्पण, पॉजिटिव एट्टीट्यूड आदि कई गुण सीखे जा सकते हैं। डॉ. कलाम लड़ाकू विमान उड़ाने वाले पहले भारतीय राष्ट्राध्यक्ष भी थे। उनकी पहली वैमानिकी परियोजना ने उन्हें भारत का पहला स्वदेशी होवरक्राफ्ट ‘नंदी’ डिजाइन करने के लिए प्रेरित किया था। पूर्व राष्ट्रपति ने देश के स्वास्थ्य क्षेत्र में भी उल्लेखनीय योगदान दिया। 90 के दशक की शुरुआत में, उन्होंने हृदय रोग के लिए ‘कलाम-राजू-स्टेंट’ विकसित करने के लिए हृदय रोग विशेषज्ञ बी सोमा राजू के साथ सहयोग किया। भारत रत्न डॉ. कलाम भारत के छात्रों और नागरिकों के लिए प्रेरणा स्रोत के रूप में सदा याद किए जाएंगे।

रेटिंग: 4.43
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 478
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *