इन्वेस्टिंग

ट्रेडिंग अस्थिरता

ट्रेडिंग अस्थिरता

ट्रेडिंग अस्थिरता

आपको हमारी वेबसाइट पर पंजीकरण करना होगा:olymptrade.com

पंजीकरण प्रक्रिया पूर्ण होने के ठीक बाद, एक ट्रेडिंग खाता खोल दिया जाता है, और आप डिपॉज़िट कर सकते हैं। Olymp Trade में न्यूनतम ट्रेड राशि $1 / €1 है, और न्यूनतम डिपॉज़िट राशि $10 / €10 है।

Fixed Time Trades एक ऐसा टूल है जो शुरुआती लोगों के लिए काफी आसान है।

ट्रेडिंग एल्गोरिथम में कुछ ही चरण होते हैं:

एक असेट चुनें।
Olymp Trade में आपके पास निम्नलिखित असेट तक पहुंच है: EUR/USD, USD/JPY, GBP/USD, USD/CHF, AUD/USD, EUR/TRY, USD/CAD, EUR/JPY, EUR/CHF, Bitcoin, Litecoin, Apple, Boeing, Facebook, Google, IBM, Tesla, Coca-Cola, McDonald's, Microsoft, Visa, Starbucks, Silver, Gold, Brent Petrol, DAX, S&P 500, NASDAQ, Dow Jones, AUD/CAD, AUD/CHF, AUD/JPY, AUD/NZD, CAD/CHF, CAD/JPY, СHF/JPY, EUR/AUD, EUR/CAD, EUR/GBP, EUR/NZD, GBP/AUD, GBP/CAD, GBP/CHF, GBP/JPY, GBP/NZD, NZD/CAD, NZD/CHF, NZD/JPY, NZD/USD, USD/SGD, USD/MXN, USD/NOK, Natural Gas (NG), Copper, Platinum, CAC 40, EURO STOXX 50, Hang Seng Endeksi, Nikkei 225, RUSSELL 2000, FTSE 100, BMW, Nintendo.

तय करें कि कितना निवेश करना है।
आपका भुगतान आपके निवेश के आधार पर अलग-अलग होगा। यदि आप एक सफल Fixed Time Trades खोलते हैं, तो आपका मुनाफ़ा 92% तक हो सकता है। आपका मुनाफ़ा सीधे बाजार की अस्थिरता पर निर्भर करता है। अस्थिरता जितनी अधिक होगी, आपका मुनाफ़ा उतना ही अधिक होगा।

एक बार जब आप विश्लेषण कर लें कि असेट की कीमत ऊपर जाएगी या नीचे तो उसके बाद संबंधित बटन दबाएं।

ट्रेड अवधि समाप्त होने की प्रतीक्षा करें।

न्यूनतम डिपॉज़िट राशि कितनी है?

न्यूनतम डिपॉज़िट राशि $10 / €10 है।

मैं डिपॉज़िट कैसे करूं?

डिपॉज़िट करने के लिए, आपको अपने डैशबोर्ड में "डिपॉज़िट करें" भाग चुनना, भुगतान विधि का चयन करना, डिपॉज़िट राशि को भरना और डिपॉज़िट बटन पर क्लिक करना होगा। आपको एक डिपॉज़िट बोनस की पेशकश की जाएगी। यदि आप यह बोनस प्राप्त नहीं करना चाहते हैं, तो आपको "बोनस रद्द करें" बटन पर क्लिक करना चाहिए और निर्देशों का पालन करना चाहिए।

Options Trading: क्‍या होती है ऑप्‍शंस ट्रेडिंग? कैसे ट्रेडिंग अस्थिरता कमाते हैं इससे मुनाफा और क्‍या हो आपकी रणनीति

Options Trading: निश्चित ही ऑप्‍शंस ट्रेडिंग एक जोखिम का सौदा है. हालांकि, अगर आप बाजार के बारे में जानकारी रखते हैं और कुछ खास रणनीति बनाकर चलते हैं तो इससे मुनाफा अर्जित कर सकते हैं.

By: मनीश कुमार मिश्र | Updated at : 18 Oct 2022 03:40 PM (IST)

ऑप्‍शंस ट्रेडिंग ( Image Source : Getty )

डेरिवेटिव सेगमेंट (Derivative Segment) भारतीय बाजार के दैनिक कारोबार में 97% से अधिक का योगदान देता है, जिसमें ऑप्शंस एक महत्वपूर्ण हिस्सा बनता है. निवेशकों के बीच बाजार की जागरूकता बढ़ने के साथ, ऑप्शंस ट्रेडिंग (ट्रेडिंग अस्थिरता Options Trading) जैसे डेरिवेटिव सेगमेंट (Derivative Segment) में रिटेल भागीदारी में उछाल आया है. इसकी मुख्‍य वजह उच्च संभावित रिटर्न और कम मार्जिन की आवश्यकता है. हालांकि, ऑप्शंस ट्रेडिंग में उच्च जोखिम ट्रेडिंग अस्थिरता शामिल है.

क्‍या है ऑप्‍शंस ट्रेडिंग?

Options Trading में निवेशक किसी शेयर की कीमत में संभावित गिरावट या तेजी पर दांव लगाते हैं. आपने कॉल और पुष ऑप्‍शंस सुना ही होगा. जो निवेशक किसी शेयर में तेजी का अनुमान लगाते हैं, वे कॉल ऑप्‍शंस (Call Options) खरीदते हैं और गिरावट का रुख देखने वाले निवेशक पुट ऑप्‍शंस (Put Options) में पैसे लगाते हैं. इसमें एक टर्म और इस्‍तेमाल किया जाता है स्‍ट्राइक रेट (Strike Rate). यह वह भाव होता है जहां आप किसी शेयर या इंडेक्‍स को भविष्‍य में जाता हुआ देखते हैं.

जानकारी के बिना ऑप्शंस ट्रेडिंग मौके का खेल है. ज्‍यादातर नए निवेशक ऑप्शंस में पैसा खो देते हैं. ऑप्शंस ट्रेडिंग में जाने से पहले कुछ बुनियादी बातों से परिचित होना आवश्यक है. मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के हेड - इक्विटी स्ट्रैटेजी, ब्रोकिंग एंड डिस्ट्रीब्यूशन हेमांग जानी ने ऑप्‍शंस ट्रेडिंग को लेकर कुछ दे रहे हैं जो आपके काम आ सकते हैं.

News Reels

धन की आवश्यकता: ऑप्शंस की शेल्फ लाइफ बहुत कम होती है, ज्यादातर एक महीने की, इसलिए व्यक्ति को किसी भी समय पूरी राशि का उपयोग नहीं करना चाहिए. किसी विशेष व्यापार के लिए कुल पूंजी का लगभग 5-10% आवंटित करना उचित होगा.

ऑप्शन ट्रेड का मूल्यांकन करें: एक सामान्य नियम के रूप में, कारोबारियों को यह तय करना चाहिए कि वे कितना जोखिम उठाने को तैयार हैं यानी एक एग्जिट स्‍ट्रेटजी होनी चाहिए. व्यक्ति को अपसाइड एग्जिट पॉइंट और डाउनसाइड एग्जिट पॉइंट को पहले से चुनना होगा. एक योजना के साथ कारोबार करने से व्यापार के अधिक सफल पैटर्न स्थापित करने में मदद मिलती है और आपकी चिंताओं को अधिक नियंत्रण में रखता है.

जानकारी हासिल करें: व्यक्ति को ऑप्शंस और उनके अर्थों में आमतौर पर इस्तेमाल किए जाने वाले कुछ जार्गन्स से परिचित होने का प्रयास करना चाहिए. यह न केवल ऑप्शन ट्रेडिंग से अधिकतम लाभ प्राप्त करने में मदद करेगा बल्कि सही रणनीति और बाजार के समय के बारे में भी निर्णय ले सकता है. जैसे-जैसे आप आगे बढ़ते हैं, सीखना संभव हो जाता है, जो एक ही समय में आपके ज्ञान और अनुभव दोनों को बढ़ाता है.

इलिक्विड स्टॉक में ट्रेडिंग से बचें: लिक्विडिटी बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह व्यक्ति को ट्रेड में अधिक आसानी से आने और जाने की अनुमति देता है. सबसे ज्यादा लिक्विड स्टॉक आमतौर पर उच्च मात्रा वाले होते हैं. कम कारोबार वाले स्टॉक अप्रत्याशित होते हैं और बेहद स्पेक्युलेटिव होते हैं, इसलिए यदि संभव हो तो इससे बचना चाहिए.

होल्डिंग पीरियड को परिभाषित करें: वक्‍त ऑप्शंस के मूल्य निर्धारण में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. प्रत्येक बीतता दिन आपके ऑप्शंस के मूल्य को कम करता है. इसलिए व्यक्ति को भी पोजीशन को समय पर कवर करने की आवश्यकता होती है, भले ही पोजीशन प्रॉफिट या लॉस में हो.
मुख्‍य बात यह जानना है कि कब प्रॉफिट लेना है और कब लॉस उठाना है. इनके अलावा, व्यक्ति को पोजीशन की अत्यधिक लेवरेज और एवरेजिंग से भी बचना चाहिए. स्टॉक ट्रेडिंग की तरह ही, ऑप्शंस ट्रेडिंग में ऑप्शंस खरीदना और बेचना शामिल है या तो कॉल करें या पुट करें.

ऑप्शंस बाइंग के लिए सीमित जोखिम के साथ एक छोटे वित्तीय निवेश की आवश्यकता होती है अर्थात भुगतान किए गए प्रीमियम तक, जबकि एक ऑप्शंस सेलर के रूप में, व्यक्ति बाजार का विपरीत दृष्टिकोण रखता है. ऑप्शंस को बेचते वक्त माना गया जोखिम मतलब नुकसान मूल निवेश से अधिक हो सकता है यदि अंतर्निहित स्टॉक (Underlying Stocks) की कीमत काफी गिरती है या शून्य हो जाती है.

ऑप्शंस खरीदते या बेचते समय कुछ नियमों का पालन करना चाहिए:

  • डीप-आउट-ऑफ-द-मनी (OTM) विकल्प केवल इसलिए न खरीदें क्योंकि यह सस्ता है.
  • समय ऑप्शन के खरीदार के खिलाफ और ऑप्शन के विक्रेता के पक्ष में काम करता है. इसलिए समाप्ति के करीब ऑप्शन खरीदना बहुत अच्छा विचार नहीं है.
  • अस्थिरता ऑप्शन के मूल्य को निर्धारित करने के लिए आवश्यक कारकों में से एक है. इसलिए आम तौर पर यह सलाह दी जाती है कि जब बाजार में अस्थिरता बढ़ने की उम्मीद हो तो ऑप्शंस खरीदें और जब अस्थिरता कम होने की उम्मीद हो तो ऑप्शंस बेचें.
  • प्रमुख घटनाओं या प्रमुख भू-राजनीतिक जोखिमों से पहले ऑप्शंस बेचने के बजाय ऑप्शंस खरीदना हमेशा बेहतर होता है.

नियमित अंतराल पर प्रॉफिट की बुकिंग करते रहें या प्रॉफिट का ट्रेलिंग स्टॉप-लॉस रखें. अगर सही तरीके से अभ्यास किया जाए तो ऑप्शंस ट्रेडिंग से कई गुना रिटर्न्स प्राप्‍त किया जा सकता है.

(डिस्‍क्‍लेमर : प्रकाशित विचार एक्‍सपर्ट के निजी हैं. शेयर बाजार में निवेश करने से ट्रेडिंग अस्थिरता पहले अपने निवेश सलाहकार की राय अवश्‍य लें.)

Published at : 18 Oct 2022 11:42 AM (IST) Tags: Options Trading Derivatives Call Option Put Option Trading in Options Stop loss हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Business News in Hindi

डीमैट खातों की संख्या 10 करोड़ के पार, बढ़ा ट्रेडिंग वॉल्यूम

कैश सेगमेंट (NSE और BSE दोनों के लिए) में औसत दैनिक कारोबार (ADTV) सितंबर महीने में 66,914 करोड़ रुपये रहा, जो मासिक आधार पर 4.3 प्रतिशत और जून के स्तर से 41 प्रतिशत ऊपर था। मगर कैश सेगमेंट के लिए ADTV अप्रैल के 73,245 करोड़ रुपये के मुकाबले 8 प्रतिशत कम है।

जबकि ऑप्शन सेगमेंट की मदद से डेरिवेटिव्स सेगमेंट ने ट्रेडिंग में अबतक का सबसे उच्च स्तर दर्ज किया। फ्यूचर्स एंड ऑप्शंस (F&O) सेगमेंट (NSE और BSE दोनों के लिए संयुक्त रुप से ADTV सितंबर में 15.3 लाख करोड़ (नोशनल टर्नओवर) रहा, जो मासिक आधार पर सितंबर में 12 प्रतिशत ऊपर रहा और जून के स्तर से 37 प्रतिशत ऊपर था।

उद्योग से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि जून के निचले स्तर से बाजार में तेज उछाल के बाद retail traders एक बार फिर सक्रिय हो गए हैं।

अगस्त में देश का डीमैट खाता पहली बार 10 करोड़ तक पहुंच गया, जिसमें 22 लाख से अधिक नए खाते चार महीनों में सबसे अधिक जुड़ गए। सितंबर में और 21.1 लाख खाते जोड़े गए, जिससे कुल खातों की संख्या 10.261 करोड़ हो गई। इक्विनोमिक्स के संस्थापक जी चोकालिंगम कहते हैं, 'उतार-चढ़ाव के बावजूद सितंबर में लाखों नए निवेशक आए और वे आक्रामक रूप से (खासकर स्मॉल और मिड कैप स्पेस में) पोजीशन ले रहे थे। भले ही सूचकांक ने सितंबर में नकारात्मक रिटर्न दिया लेकिन अग्रिम गिरावट अप्रभावित रही। अक्टूबर और नवंबर में वॉल्यूम में काफी सुधार होगा। अमेरिका में दरों में बढ़ोतरी चरम पर होने की संभावना है। तेल और जिंसों की कीमतें कम हो रही हैं और मुद्रास्फीति में कमी आने की संभावना है।'

सितंबर में फेडरल रिजर्व के आक्रामक मौद्रिक रुख से अमेरिकी डॉलर और ट्रेजरी में उछाल के कारण बाजारों में अस्थिरता देखी गई। निफ्टी 50 इंडेक्स 3.74 फीसदी, निफ्टी मिडकैप 100 में 2.6 फीसदी और निफ्टी स्मॉलकैप 100 इंडेक्स 1.9 फीसदी गिरे। विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (FPI) का प्रवाह भी तीन महीने में पहली बार नकारात्मक रहा। उन्होंने सितंबर में करीब 13,000 करोड़ रुपये के शेयर बेचे।

मगर घरेलू बाजार में गिरावट वैश्विक प्रतिस्पर्धियों की तुलना में कम थी। उदाहरण के लिए अमेरिका का डाउ जोंस इंडेक्स पिछले महीने 9 फीसदी गिरा था। हालांकि सप्ताह के पहले दो दिनों में इसमें 5.5 फीसदी के उछाल के साथ तेजी देखी गई है। अमेरिका में धारणा में बदलाव से घरेलू इक्विटी और ट्रेडिंग वॉल्यूम को भी समर्थन मिलने की उम्मीद है।

येश सिक्योरिटीज के सीईओ ई प्रशांत प्रभाकरन कहते हैं, सुधार के के बावजूद, जब तक समग्र रूप से तेजी की संभावना है, तब तक हम भागीदारी की वापसी देखेंगे। भारतीय रिटेल के लिए ट्रेडिंग हमेशा तेजी की तरफ रही है।'

निवेश के मंत्र 28: स्टॉक मार्केट के तूफान में टिके रहने के पांच गोल्डन रूल्स

वित्तीय अनिश्चितता के दौरान क्या करें निवेशक?

ट्रेडिंग एक ऐसी गतिविधि है जिसे हम सभी पसंद करते हैं। आखिर नकदी की आवाज किसे पसंद नहीं है? हालांकि, ऐसा समय भी होता है जब सर्वश्रेष्ठ भी अनुमान लगाने में गलती कर जाते हैं। मौजूदा दौर ऐसा ही है, जिससे हम गुजर रहे हैं।

एंजिल ब्रोकिंग लिमिटेड के चीफ एनालिस्ट (टेक्निकल एंड डेरिवेटिव्स) श्री समीत चव्हान के अनुसार, अनुभवी निवेशकों के पास ऐसी परिस्थितियों के दौरान खुद को नुकसान से बचाने के लिए एक रक्षा तंत्र है। यह उन्हें अस्थिरता का मुकाबला कर अपने पोर्टफोलियो को सुरक्षित बनाने में सक्षम बनाता है।

इस रक्षात्मक दृष्टिकोण के कुछ गुण इस प्रकार हैं:

मार्केट की दिशा का सम्मान करें
सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण, हर ट्रेडर को बाजार की दिशा का सम्मान करना आना चाहिए। बाजार में 'भाव भगवान है' और 'ट्रेंड फ्रेंड है' जैसे प्रसिद्ध स्वयंसिद्ध वाक्य बड़े लोकप्रिय हैं। वे यह संकेत देते हैं कि प्रत्येक व्यापारी को जिद्दी हुए बिना बाजार से मिल रही दिशा का सम्मान करना चाहिए। हम सभी वैसे भी ट्रेंड दिशा का आकलन करने के लिए चलती औसत के विभिन्न रूपों का उपयोग करते हैं।

वित्तीय अनुशासन
यह किसी के लिए सबसे सहज प्रतिक्रिया है। हालांकि, जब बाजार अस्थिर होता है तो ट्रेडर काउंटर-इंट्यूटिव हो जाते हैं। यह इसलिए होता है कि मानवीय पूर्वाग्रह डर और लालच, दोनों भावनाओं से प्रेरित हो सकते हैं। हालांकि, रिस्क मैनेजमेंट हमेशा आपके निवेश का महत्वपूर्ण पहलू है। अपने जोखिम को कम रखने के लिए आपको सख्ती से स्टॉप लॉस नियम का पालन करने की आवश्यकता है। आखिरकार, बचाया गया हर पैसा हर कमाये गए पैसे के बराबर होता है।

लीवरेज ट्रेडिंग से बचें
यदि आप अपना दांव सही लगाते हैं, तो लीवरेज ट्रेडिंग आपको एक उच्च-स्तरीय रिटर्न देता है। और यदि थोड़ी गलती होती है तो आप अपनी निवेश की गई पूरी राशि गंवा सकते हैं। अस्थिरता के दौरान बाजार में उतार-चढ़ाव जारी ट्रेडिंग अस्थिरता ट्रेडिंग अस्थिरता रहता है और स्टॉक्स उच्च और निम्न स्तरों के बीच झूलते रहते हैं। कभी-कभी कोई स्टॉक बिना कोई सुराग दिए भी सामान्य प्रवृत्ति से बढ़ सकता है। इसलिए, लीवरेज्ड ट्रेडिंग केवल आपको ट्रेडिंग अस्थिरता उच्च जोखिम में डालती है और इसलिए, इससे बचना चाहिए।

गिरने वाला चाकू पकड़ने से बचें
यदि आप गिरते हुए चाकू को पकड़ने की कोशिश करते हैं, तो आपके चोटिल होने की संभावना ट्रेडिंग अस्थिरता अधिक होती है। ऐसे कठिन समय में आपको मौजूदा ट्रेडों के औसत सहित कुछ प्रथाओं से बचना चाहिए। वे बाजार के अंडरकरेंट्स को सामने नहीं लाते। आपको पहले चीजों को स्थिर होने देना चाहिए और फिर गुणवत्ता प्रस्तावों में उद्यम शुरू करना चाहिए।

छोटे स्टॉक/ कम-टिकट-साइज वाले स्टॉक को खरीदने से बचें
इस तरह के संकट के दौरान कुछ कमजोर स्टॉक पेनी स्टॉक बन जाते हैं या दो अंकों के क्षेत्र में प्रवेश कर सकते हैं। चूंकि मार्केट में 'बाय लो, सेल हाई' का मंत्र कारगर है। ऐसे में खरीदार उन्हें खरीदने के लिए उत्सुकता महसूस करते हैं। आम तौर पर, इस तरह के पेनी स्टॉक उसके बाद नहीं बढ़ते हैं। कुछ अपवाद हमेशा होते हैं, लेकिन वे जोखिम उठाने लायक नहीं होते हैं।

ये कुछ ऐसे गुण हैं, जिन्हें वित्तीय ट्रेडिंग अस्थिरता अनिश्चितता के दौरान हर निवेशक को अपनाने चाहिए। वे ऐसी अवधि के दौरान संबद्ध जोखिमों से आपके पोर्टफोलियो को बचाने में एक लंबा रास्ता तय करते हैं।

ट्रेडिंग एक ऐसी गतिविधि है जिसे हम सभी पसंद करते हैं। आखिर नकदी की आवाज किसे पसंद नहीं है? हालांकि, ऐसा समय भी होता है जब सर्वश्रेष्ठ भी अनुमान लगाने में गलती कर जाते हैं। मौजूदा दौर ऐसा ही है, जिससे हम गुजर रहे हैं।

एंजिल ब्रोकिंग लिमिटेड के चीफ एनालिस्ट (टेक्निकल एंड डेरिवेटिव्स) श्री समीत चव्हान के अनुसार, अनुभवी निवेशकों के पास ऐसी परिस्थितियों के दौरान खुद को नुकसान से बचाने के लिए एक रक्षा तंत्र है। यह उन्हें अस्थिरता का मुकाबला कर अपने पोर्टफोलियो को सुरक्षित बनाने में सक्षम बनाता है।

इस रक्षात्मक दृष्टिकोण के कुछ गुण इस प्रकार हैं:

मार्केट की दिशा का सम्मान करें
सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण, हर ट्रेडर को बाजार की दिशा का सम्मान करना आना चाहिए। बाजार में 'भाव भगवान है' और 'ट्रेंड फ्रेंड है' जैसे प्रसिद्ध स्वयंसिद्ध वाक्य बड़े लोकप्रिय हैं। वे यह संकेत देते हैं कि प्रत्येक व्यापारी को जिद्दी हुए बिना बाजार से मिल रही दिशा का सम्मान करना चाहिए। हम सभी वैसे भी ट्रेंड दिशा का आकलन करने के लिए चलती औसत के विभिन्न रूपों का उपयोग करते हैं।

वित्तीय अनुशासन
यह किसी के लिए सबसे सहज प्रतिक्रिया है। हालांकि, जब बाजार अस्थिर होता है तो ट्रेडर काउंटर-इंट्यूटिव हो जाते हैं। यह इसलिए होता है कि मानवीय पूर्वाग्रह डर और लालच, दोनों भावनाओं से प्रेरित हो सकते हैं। हालांकि, रिस्क मैनेजमेंट हमेशा आपके निवेश का महत्वपूर्ण पहलू है। अपने जोखिम को कम रखने के लिए आपको सख्ती से स्टॉप लॉस नियम का पालन करने की आवश्यकता है। आखिरकार, बचाया गया हर पैसा हर कमाये गए पैसे के बराबर होता है।

लीवरेज ट्रेडिंग से बचें
यदि आप अपना दांव सही लगाते हैं, तो लीवरेज ट्रेडिंग आपको एक उच्च-स्तरीय रिटर्न देता है। और यदि थोड़ी गलती होती है तो आप अपनी निवेश की गई पूरी राशि गंवा सकते हैं। अस्थिरता के दौरान बाजार में उतार-चढ़ाव जारी रहता है और स्टॉक्स उच्च और निम्न स्तरों के बीच झूलते रहते हैं। कभी-कभी कोई स्टॉक बिना कोई सुराग दिए भी सामान्य प्रवृत्ति से बढ़ सकता है। इसलिए, लीवरेज्ड ट्रेडिंग केवल आपको उच्च जोखिम में डालती है और इसलिए, इससे बचना चाहिए।

गिरने वाला चाकू पकड़ने से बचें
यदि आप गिरते हुए चाकू को पकड़ने की कोशिश करते हैं, तो आपके चोटिल होने की संभावना अधिक होती है। ऐसे कठिन समय में आपको मौजूदा ट्रेडों के औसत सहित कुछ प्रथाओं से बचना चाहिए। वे बाजार के अंडरकरेंट्स को सामने नहीं लाते। आपको पहले चीजों को स्थिर होने देना चाहिए और फिर गुणवत्ता प्रस्तावों में उद्यम शुरू करना चाहिए।

छोटे स्टॉक/ कम-टिकट-साइज वाले स्टॉक को खरीदने से बचें
इस तरह के संकट के दौरान कुछ कमजोर स्टॉक पेनी स्टॉक बन जाते हैं या दो अंकों के क्षेत्र में प्रवेश कर सकते हैं। चूंकि मार्केट में 'बाय लो, सेल हाई' का मंत्र कारगर है। ऐसे में खरीदार ट्रेडिंग अस्थिरता उन्हें खरीदने के लिए उत्सुकता महसूस करते हैं। आम तौर पर, इस तरह के पेनी स्टॉक उसके बाद नहीं बढ़ते हैं। कुछ अपवाद हमेशा होते हैं, लेकिन वे जोखिम उठाने लायक नहीं होते हैं।

ये कुछ ऐसे गुण हैं, जिन्हें वित्तीय अनिश्चितता के दौरान हर निवेशक को अपनाने चाहिए। वे ऐसी अवधि के दौरान संबद्ध जोखिमों से आपके पोर्टफोलियो को बचाने में एक लंबा रास्ता तय करते हैं।

ब्राज़ील: यूरो की ओपनिंग रेट आज 23 मार्च को EUR से BRL में

यह दिन के पहले मिनटों के दौरान यूरोपीय करेंसी का व्यवहार है

infobae

ट्रेडिंग सत्र के उद्घाटन के बाद, यूरो ने औसतन 5.39 ब्राज़ीलियाई रियल पर कारोबार किया, जो पिछले दिन औसतन 5.44 ब्राज़ीलियाई रियल की तुलना में 0.78% की कमी का प्रतिनिधित्व करता था।

पिछले सात दिनों की लाभप्रदता की तुलना में, यूरो में 3.56% की कमी दर्ज की गई, ताकि पिछले वर्ष में इसमें अभी भी 17.37% की कमी हो। पिछली तारीखों के बारे में, वह रेलीगेशन में लगातार दो सत्रों की श्रृंखला बनाते हैं। पिछले सप्ताह के लिए अस्थिरता 12.37% है, जो वार्षिक अस्थिरता के आंकड़े (14.34%) से कम है, इसलिए इसकी कीमत हाल की तारीखों में सामान्य से कम बदलाव दिखा रही है।

वार्षिक फोटो में, यूरो औसतन 6.45 ब्राज़ीलियाई रियल के उच्च स्तर पर भी बदल गया है, जबकि इसका निम्नतम स्तर औसतन 5.39 ब्राज़ीलियाई रियल रहा है।

संकट और अनिश्चितता के बीच

वास्तविक, या ब्राज़ीलियाई वास्तविक जैसा कि यह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जाना जाता है, ब्राजील में कानूनी निविदा है और दुनिया में बीसवीं सबसे अधिक इस्तेमाल की जाने वाली मुद्रा है और मैक्सिकन पेसो के पीछे लैटिन अमेरिका में दूसरी सबसे अधिक इस्तेमाल की जाने वाली मुद्रा है।

1994 के बाद से लागू, वास्तविक ने “क्रूज़िरो रियल” को बदल दिया और इसका संक्षिप्त नाम BRL है; यह अमेरिकी महाद्वीप में केवल अमेरिकी डॉलर, कनाडाई डॉलर और मैक्सिकन पेसो के पीछे चौथी सबसे अधिक कारोबार वाली मुद्रा है।

ब्राजील की मुद्रा को सबसे अधिक चिह्नित करने वाले क्षणों में से एक था जब 1998 में वास्तविक को एक मजबूत सट्टा हमले का सामना करना पड़ा, जिसके कारण अगले वर्ष इसका अवमूल्यन हुआ, जो प्रति डॉलर 1.21 से 2 रेस के मूल्य से जा रहा था।

आज 1 और 5 सेंट तांबे के सिक्के, 10 और 25 सेंट कांस्य के सिक्के और 50 सेंट कप्रोनिकेल सिक्के हैं। एक असली का सिक्का द्विधात्वीय है। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि 2005 में पेनीज़ बंद कर दिए गए थे, लेकिन यह अभी भी कानूनी निविदा है।

आर्थिक क्षेत्र में, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने 2022 ट्रेडिंग अस्थिरता के लिए ब्राजील की वृद्धि में 1.7 प्रतिशत अंकों की कटौती की, विशेष रूप से उच्च मुद्रास्फीति और कोरोनोवायरस महामारी के बीच वैश्विक स्थितियों के बिगड़ने के कारण।

यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि लैटिन अमेरिकी क्षेत्र में सबसे बड़ी ब्राजील की अर्थव्यवस्था ने 2021 की दूसरी तिमाही में मंदी में प्रवेश किया और 2022 तक स्थिर रहने का अनुमान है।

COVID-19 के कारण, ब्राजील को महामारी से निपटने के लिए प्रोत्साहन उपायों (जीडीपी का लगभग 12%) के रूप में अधिक पैसा खर्च करने के लिए मजबूर किया गया था, जिसके परिणामस्वरूप अंततः 2022 के लिए बजट घाटा हुआ।

रेटिंग: 4.90
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 242
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *